खिचड़ी को न समझें कमतर, जानिए इसके हेल्थ बेनेफिट्स

कोलकाता : बहुत लोग खिचड़ी को बीमारी में मुनासिब भोजन के तौर पर समझते हैं। लेकिन आप उसके दूसरे कई फायदों को जानकर हैरान रह जाएंगे। फिट रहने के लिए आपको सप्ताह में एक बार खिचड़ी खाना चाहिए। विशेषकर अगर पेट की चर्बी आपकी कमर के आसपास जमा हो रही है। खिचड़ी वजन कम करने में आपकी मदद करेगी। उसके अलावा, खिचड़ी खाने के कई दूसरे स्वास्थ्य फायदे भी मिलेंगे।
पाचन सुधारती है– ये डिश पचाने में काफी आसान होती है। पाचन क्षमता के कमजोर होने पर भी ये आसानी से पच जाती है। यही वजह है कि कमजोर लोगों की डाइट के तौर पर इस्तेमाल की जाती है क्योंकि कमजोरी में पाचन बहुत खराब होता है।
पौष्टिक भोजन– खिचड़ी दाल, चावल, सब्जी और मसालों के साथ बनाई जाती है। ये पोषण में भरपूर होती है जो शरीर को और ऊर्जा देती है। खिचड़ी एक साथ हमारे शरीर को जरूरी सभी पोषक तत्व उपलब्ध कराती है।
कब्ज में अच्छी- कब्ज में खिचड़ी खाना सुविधाजनक और मुफीद है। खिचड़ी खाने के बाद पेट में भारीपन नहीं रहता, और जल्दी पच भी जाती है। घी, दही, नींबू और अचार के साथ खिचड़ी खाना अच्छा है।
दस्त में मुफीद– अगर किसी को दस्त की शिकायत है, तो उसे छिली हुई मूंग दाल की खिचड़ी खाना चाहिए। खिचड़ी सूखी नहीं होनी चााहिए बल्कि आधी गीली हो। ये तुरंत पेट दर्द और से राहत देती है। ये शरीर को कमजोर भी नहीं होने देती।
वजन कम करने में मददगार- अगर आपकी कमर के आसपास चर्बी का जमा होना निरंतर बढ़ रहा है, तो आपको अनिवार्य रूप से दिन में एक बार खिचड़ी इस्तेमाल करना चाहिए। ये आपके वजन पर नियंत्रण रखेगी और चर्बी के जमाव को भी कम करेगी।
बच्चों के लिए खिचड़ी- बच्चों के लिए खिचड़ी आसान, सरल और आदर्श भोजन है। पालक खिचड़ी और मूंग दाल की खिचड़ी की रेसिपी बनाना बहुत आसान है। ये आपके बच्चे के विकास और वृद्धि के लिए संतुलित भोजन है। छह महीने के बच्चे को भी खिचड़ी से परिचित कराया जा सकता है। थोड़ा घी के साथ खिचड़ी मल त्याग को आसान बनाने में मदद करती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

सावन में बुधवार का दिन भी होता है बेहद खास, ये 5 उपाय दिखाएंगे कमाल

कोलकाता : हिन्दू धर्म में ज्योतिषशास्त्र के अनुसार सावन का माह बेहद ही खास माना जाता है। यह माह पूर्ण रूप से भगवान शिव को आगे पढ़ें »

ऊपर