अधिक तापमान में ज्यादा शारीरिक परिश्रम से बचें

मानसिक रोगों से पीड़ित व्यक्तियों, आरामपरस्त लोगों, हदय रोग के साथ शरीर पर सूजन, अधिक शराब पीने, मधुमेह के रोगी एवं वे व्यक्ति जिनका अभी ब्रेन ट्यूमर का ऑपरेशन हुआ है अथवा वृद्ध एवं बच्चों को लू लगने की सबसे अधिक संभावना रहती है। इसलिए जरूरी है कि ये लोग अधिक तापमान में बाहर निकलते समय पूरी सावधानी बरतें। अधिक तापमान के कारण शरीर में तीन प्रकार की स्थितियां पैदा हो जाती हैं। मांसपेशियों में ऐंठन शुरू हो जाती है। शरीर में बहुत थकावट हो जाती है तथा ज्यादा देर तापमान में रहने से लू लगती है जो बहुत घातक है। उच्च तापमान में निकलने से पहले यदि कुछ बातों का ध्यान रख लिया जाए तो काफी हद तक थकावट, सिरदर्द, चिड़चिड़ापन, रक्तचाप का कम होना, उल्टियां तथा सबसे अधिक लू के कारण होने वाली मृत्यु से बचा जा सकता है। उच्च तापमान में अधिक शारीरिक परिश्रम अथवा व्यायाम नहीं करना चाहिए। अधिक मात्र में पानी एवं नमक तथा नींबू पानी का प्रयोग करें। उच्च तापमान में शराब का सेवन नहीं करना चाहिए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सीबीआई कोर्ट में सुनवाई पूरी, ममता बनर्जी बोलीं- अब अदालत में ही होगा फैसला

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की राजनीति में एक बार फिर उथल-पुथल शुरू हो गई है। सीबीआई की ओर से टीएमसी (तृणमूल कांग्रेस) के दो मंत्रियों आगे पढ़ें »

मुंबई में 114 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से चली आंधी, एयरपोर्ट छह बजे तक बंद

नई दिल्ली : देश के दक्षिण पश्चिम राज्यों में चक्रवाती तूफान ताउते का खतरा मंडरा रहा है। अब ये तूफान गुजरात की ओर से बढ़ आगे पढ़ें »

ऊपर