इन 5 परिस्थितियों में संतरे का सेवन करने से बचें

 

कोरोनाकाल में विटामिन सी की कमी पूरी करने के लिए लोगों ने संतरे का सेवन तो बहुत किया होगा। संतरे में मौजूद विटामिन सी, फाइबर, टामिन ए, बी, कैल्शियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस इत्यादि पोषक तत्व शरीर को हेल्दी बनाए रखने में काफी मदद करते हैं। बावजूद इसके क्या आप जानते हैं इसका अधिक सेवन करने पर आप परेशानी में भी पड़ सकते हैं। आइए जानते हैं किन 5 परिस्थितियों में संतरे का सेवन करने से बचना चाहिए।

पाचन क्रिया संबंधित परेशानी
अगर आपको पाचन संबंधी कोई परेशानी है, तो संतरा का सेवन करना छोड़ दें। संतरे का अधिक सेवन करने से पेट में ऐंठन, दस्त, अपच जैसी दिक्कतें आपको परेशानी कर सकती है। इतना ही नहीं इसमें मौजूद फाइबर की अधिकता से आपको डायरिया की शिकायत भी हो सकती है।

एसिडिटी समस्या
संतरे में मौजूद एसिड का सेवन अगर आप अधिक मात्रा में करते हैं, तो आपको एसिडिटी की परेशानी हो सकती है। एसिडिटी होने पर व्यक्ति को सीने और पेट में जलन की परेशानी बढ़ सकती है।

पेट दर्द
शिशुओं को संतरे का सेवन नहीं करवाना चाहिए। संतरे में मौजूद एसिड उन्हें पेट संबधित परेशानी पैदा कर सकता है।

खाली पेट
हेल्थ एक्सपर्ट की मानें तो खाली पेट संतरा का सेवन नहीं करना चाहिए। संतरे में मौजूद अमिनो एसिड की वजह से पेट में बहुत गैस बनने लगती है। इसके अलावा रात में भी संतरे का सेवन करने से बचना चाहिए, संतरे की तासीर ठंडी होने की वजह से आपको सर्दी-जुकाम की परेशानी हो सकती है।

दांत हो सकते हैं खराब
संतरे में मौजूद एसिड दांतों के इनेमल में मौजूद कैल्शियम के साथ मिलकर बैक्टीरियल इंफेक्शन पैदा कर सकता है। इसकी वजह से व्यक्ति के दांतों में कैविटी होने से उसके दांत धीरे-धीरे खराब होने लगते हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

voter card

आज बंगाल दौरे पर चुनाव आयोग का फूल बेंच

चुनावी तैयारियों की करेगा समीक्षा सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः कोरोना वायरस महामारी व वैक्सीनेशन के बीच चुनावी तैयारियां राज्य में जारी हैं। इस बीच राज्य में विधानसभा चुनावों आगे पढ़ें »

मिशन बंगाल : तृणमूल-भाजपा दोनों के लिए बड़ा दांव हैं नेताजी सुभाषचंद्र बोस

महापुरुषों की विरासत पर बिछी है बंगाल की चुनावी सियासत नेताजी की 125वीं जयंती पर आमने-सामने आयीं दोनों मजबूत पार्टियां कोलकाता : बंगाल में चुनावी सियासत की आगे पढ़ें »

ऊपर