अशोक चव्हाण ने खोला राज, सीएम की कुर्सी के लिए कांग्रेस के सामने कैसे झुकी शिवसेना

chavhan

औरंगाबाद : महाराष्ट्र में शिवसेना और कांग्रेस के बीच गठबंधन के खुलासे होने शुरू हो गये हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र सरकार में लोकनिर्माण मंत्री अशोक चव्हाण ने कहा कि कांग्रेस की अंतरिम ‌अध्यक्ष सोनिया गांधी ने  उद्धव ठाकरे से लिखित आश्वासन लिया था कि वह संविधान के दायरे में सरकार चलाएंगे और ऐसा नहीं करने पर कांग्रेस अपना समर्थन वापस ले लेगी। साथ ही उन्होंने बताया कि सोनिया गांधी ने उन्हे बताया था कि हमें यह लिखित रूप में स्वीकारने की आवश्यकता है कि सरकार संविधान के अनुसार कार्य करेगी। यदि इस प्रस्तावना से भटका गया तो हम सरकार से बाहर निकल जाएंगे। चव्हाण ने कहा कि हमने यह बात उद्धव ठाकरे को बताई, जिसके बाद शिवसेना ने इसे स्वीकार कर लिया। बता दें कि पिछले साल नवंबर में हुए महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में भाजपा एवं शिवसेना गठबंधन की जीत हुई थी। वहीं चुनाव नतीजे आने के बाद मुख्ययमंत्री के पद को लेकर शिवसेना ने गठबंधन तोड़ दिया था।

राजनीतिक मित्रता के लिए शिवसेना कहां तक झुकी

भाजपा के साथ गठबंधन तोड़ने के बाद शिवसेना ने अप्रत्याशित रूप से एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बना ली। इस सरकार के बनने के बाद से ही राजनीतिक गलियारों में इस बात की चर्चा शुरू हो गई थी कि आखिर शिवसेना जैसी पार्टी ने अपने से विपरीत विचारधारा वाली कांग्रेस और एनसीपी के साथ गठबंधन करने के लिए कैसे तैयार हो गई। हालांकि, इन तीनों दलों की सरकार न्यूनतम साझा कार्यक्रम के तहत बनी है, लेकिन अब चव्हाण के इस बयान से यह साफ हो रहा है कि इस राजनीतिक मित्रता के लिए शिवसेना कितने हद तक झुकी है। लोकनिर्माण मंत्री चव्हाण ने कहा कि गांधी ने प्रदेश कांग्रेस के नेताओं को यह भी बताया कि यदि सरकार उम्मीद के अनुसार काम नहीं करती है तो पार्टी को उससे अलग हो जाना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि इससे सहमत होकर हमने सरकार बनाई।

सरकार बनाने से पहले के करारों को स्पष्ट करना चाहिए : फड़णवीस

वहीं चव्हाण के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने कहा कि शिवसेना को महाराष्ट्र विकास आघाड़ी सरकार बनाने से पहले किए गए करारों को स्पष्ट करना चाहिए। फड़णवीस ने मीडिया से कहा कि गठबंधन में शामिल दलों को यदि विश्वास नहीं है तो शिवसेना सरकार में क्यों है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

modi & trump

केम छो ट्रंप कार्यक्रम का नाम बदलकर हुआ नमस्ते ट्रंप

नई दिल्ली : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 24 और 25 फरवरी को गुजरात दौरे पर आने वाले हैं। ट्रंप की इस अहमदाबाद यात्रा के नाम आगे पढ़ें »

delhis

जामिया समिति ने छात्रों पर हमला कर रहे अर्द्धसैनिक बलों का वीडियो जारी किया

नयी दिल्ली : जामिया समन्वयन समिति (जेसीसी) ने पिछले साल 15 दिसंबर को विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी में छात्रों पर लाठीचार्ज कर रहे अर्द्धसैनिक बल और आगे पढ़ें »

ऊपर