अनंत सिंह के घर पहुंचे आर्मी अफसर, कई आरोपों के तहत मामले दर्ज

पटना : मोकामा से बाहुबली विधायक अनंत सिंह के पैतृक घर पर चल रही रेड में उनके घर के अंदर से एक पीले कवर में कार्बन फिल्म के अंदर छुपा के रखे गए अत्याधुनिक एके-47, हैंड ग्रेनेड और 26 जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं। एटीएस की टीम ने पूरे घर को घेर लिया है, मामले की जांच के लिए एनआईए की टीम भी रवाना हो गई है। इसके अलावा विधायक के घर पर बम निरोधक दस्ता भी पहुंचा है। बता दें ‌कि इसका कनेक्शन मध्य प्रदेश में जबलपुर ऑर्डिनेंस फैक्ट्री से जोड़कर देखा जा रहा है। पुलिस सूत्रों के अनुसार बिहार में पहली बार इस तरह के ग्रेनेड बरामद किए गए हैं। शनिवार को आर्मी के अफसर एके-47 की जांच करने के लिए अनंत के गांव पहुंच गए हैं।

इन आरोपों के तहत मामला दर्ज

पुलिस इस संबंध में विधायक अनंत सिंह की गिरफ्तारी को लेकर आगे की रणनीति बना रही है। बता दें कि बाढ़ थाना कांड संख्या 389/19 के तहत विधायक पर मामला दर्ज कर लिया गया है। इसमें आईपीसी 414, 120 बी, 25 (1-ए), 25(1 एए), 25(1-बी) ए/ 25(1-बी)सी/26/35 आर्म्स एक्ट, 3/4 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम एवं 13 यूएपीए एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।

घर का केयर टेकर गिरफ्तार

शुक्रवार की सुबह 11:00 बजे शुरू हुई इस रेड के दौरान अनंत के पैतृक घर पर एंजेसी के लोग पहुंचे तो उनकी वहां एक बुजुर्ग से मुलाकात हुई जो घर का केयर टेकर है। जानकारी के अनुसार केयरटेकर सुनील राम समेत दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। कार्रवाई के लिए 22 थानों की पुलिस लदमा गांव पहुंची थी।

पुलिस काे मिली थी जानकारी

सूत्रों के अनुसार पुलिस को इस बात की जानकारी मिली थी कि अनंत के घर सेना में इस्तेमाल किया जाना वाला हथियार एलएमजी (लाइट मशीन गन) है। इसे लेकर पुलिस ने उनके घर के चप्पे-चप्पे को छान मारा लेकिन एलएमजी नहीं मिला। गौरतलब है कि पुलिस की सूचना के अनुसार दो एलएमजी मंगवाई गई है, इनमें से एक के बाढ़ से बाहर भेजे जाने की सूचना पुलिस को मिली थी। जबकि पुलिस सूत्रों के अनुसार एक एलएमजी अभी वहीं है। इसे लेकर अब पुलिस उनके करीबी लोगों के यहां छापेमारी करने की योजना बना रही है। मालूम हो कि 5 मार्च 2009 को आइपीएस अधिकारी अमिताभ दास ने चुनाव आयोग से शिकायत की थी कि अनंत के पास एलएमजी सहित कई अत्याधुनिक हथियार हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Jagdip Dhankhar

धनखड़ के खिलाफ विधान सभा से संसद तक मोर्चाबंदी

कोलकाता : ऐसा पहली बार हुआ है जब विधानसभा में सत्ता पक्ष ने धरना दिया। कारण थे राज्यपाल जगदीप धनखड़, जिन पर विधेयकों को मंजूरी आगे पढ़ें »

मेरे कंधे पर बंदूक रखकर चलाने की को​शिश न करें – धनखड़

कोलकाता : राज्यपाल जगदीप धनखड़ और तृणमूल सरकार के बीच संबंधों में मंगलवार को और खटास आ गयी जब उन्होंने ‘कछुए की गति से काम आगे पढ़ें »

ऊपर