प्रधानमंत्री फसलबीमा योजना में बदलाव को मंजूरी, किसानों के लिए स्वैच्छिक बनाया

field

नयी दिल्ली : केंद्र की मोदी सरकार ने बुधवार को ‘प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना’ (पीएमएफबीवाई) में बड़े बदलावों को मंजूरी दी है। योजना की खामियों को दुरुस्त करते हुये अब इसे किसानों के लिये स्वैच्छिक बना दिया गया है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा फरवरी 2016 में शुरू की गई इस फसल बीमा योजना के तहत, ऋण लेने वाले किसानों के लिये यह बीमा कवर लेना अनिवार्य रखा गया था। बता दें कि मौजूदा समय में, कुल किसानों में से 58 प्रतिशत किसान ऋण लेने वाले हैं।

किसान संगठनों और राज्यों ने जताई थी चिंता

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने यहां संवाददाताओं से कहा कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पीएमएफबीवाई कार्यक्रम में कई बदलावों को मंजूरी दी है क्योंकि किसान संगठन और राज्य इसके संदर्भ में कुछ चिंताएं जता रहे थे। मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को स्वैच्छिक बनाया गया है।

कृ‌षि मंत्री ने योजना की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए यह कहा

योजना की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए, तोमर ने कहा कि बीमा कार्यक्रम में 30 प्रतिशत खेती योग्य क्षेत्र को शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि 60,000 करोड़ रुपये के बीमा दावे को स्वीकृति दे दी गई है, जबकि 13,000 करोड़ रुपये का प्रीमियम एकत्र किया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में अब तक 1 लाख के पार कोरोना संक्रमण के मामले, 73 हजार ठीक, 2 हजार की मौत

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पिछले 24 घंटे में पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण के 2931 नये मामलों की पुष्टि आगे पढ़ें »

मणिपुर में कांग्रेस के छह विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता और पार्टी से दिया इस्तीफा

इम्फाल : मणिपुर में कांग्रेस के छह विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया और मंगलवार को पार्टी भी छोड़ दी। इन छह आगे पढ़ें »

ऊपर