रेप वाले दिन की कुलदीप सेंगर के लोकेशन की जानकारी नहीं है एप्पल के पास

Kuldeep Singh Sengar

नई दिल्ली : उन्नाव रेप केस मामले में बुधवार को एक नया मोड़ आया। आई-फोन निर्माता कंपनी एप्पल को कोर्ट में कुलदीप सिंह सेंगर की लोकेशन संबंधी ब्योरा देना था। सेंगर के मोबाइल की लोकेशन को लेकर एप्पल कंपनी ने तीस हजारी कोर्ट को कहा कि घटना के दिन का डाटा और सेंगर के मोबाइल की लोकेशन कंपनी के पास नहीं है।

दिल्ली की अदालत ने प्रौद्योगिकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी एप्पल से भाजपा के निष्कासित विधायक सेंगर के मोबाइल फोन की उस दिन की ‘लोकेशन’ की मांग की गई ‌थी जिस दिन उन्नाव में 17 वर्षीय लड़की से कथित तौर पर बलात्कार हुआ था। बंद कमरे में हो रही सुनवाई के दौरान एप्पल के वकील ने जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा के समक्ष यह जानकारी दी।

29 सितंबर को कोर्ट ने कंपनी से मांगी थी जानकारी

29 सितंबर को अदालत ने कंपनी से दो हफ्ते में लोकेशन से संबधित जानकारी शपथपत्र के साथ मुहैया करने का आदेश दिया था। कुलदीप सिंह सेंगर पर वर्ष 2017 में एक नाबालिग लड़की से दुष्कर्म करने का आरोप लगा है। सेंगर पर वर्ष 2017 में एक नाबालिग लड़की से दुष्कर्म करने का आरोप लगा है। एक सड़क हादसे में घायल पीड़िता का दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में इलाज चल रहा है। इस दुर्घटना में पीड़ि‍ता के रिश्‍तेदार की मौत हो गई थी। इससे पहले उसके पिता की हिरासत में मौत हो गई थी।

प्राइवेसी को लेकर सख्‍त एप्पल
एप्पल इंडिया के वकील ने अदालत को बताया कि भी तक इस बात की जानकारी नहीं है कि सेंगर के लोकेशन की जानकारी स्‍टोर की गई है या नहीं? और अगर इसे स्‍टोर किया गया है तो उसे कहां से और कैसे उपलब्‍ध कराया जा सकता है। बता दें कि यूजर्स का डाटा मुहैया कराने को लेकर एप्पल के नियम-कायदे बेहद सख्‍त हैं। कंपनी की ओर से बताया गया कि आई-फोन निर्माता कंपनी यूजर्स की प्राइवेसी का हवाला देकर आमतौर पर डाटा साझा नहीं करती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मैरी कॉम के खिलाफ ट्रायल मैच के लिए निकहत ने खेल मंत्री को पत्र लिखा

भारतीय मुक्केबाजी संघ बिना ट्रायल के मैरी कॉम को ओलिंपिक क्वॉलिफायर्स में भेजना चाहता है नयी दिल्ली : युवा बॉक्सर निकहत जरीन ने खेल मंत्री किरण आगे पढ़ें »

Twitter

ट्विटर ने कहा-विश्व के नेताओं के अकाउंट को नियमों से पूरी तरह छूट नहीं

सैनफ्रांसिस्को : ट्विटर ने कहा है कि विश्व के नेताओं को इसके उन प्रतिबंधों से पूरी तरह छूट नहीं है, जिसमें उपयोगकर्ता हिंसा की धमकी आगे पढ़ें »

ऊपर