अपराजिता 2021: परफार्मिंग आर्ट्स कैटगरी पर एक नजर

भिन्न-भिन्न क्षेत्रों में प्रभावी काम करने वाली हर नारी को लगातार मंच दिलाने वाला सन्मार्ग ‘अपराजिता’ इस बार 10वें संस्करण का जश्न मनाने जा रहा है। हर महिला के लिए प्ररेणा बने अपराजिता की यह यात्रा शानदार रही है। धूत ग्रुप प्रेजेंट्स सन्मार्ग अपराजिता नई उमंग, नई ऊर्जा और नए उत्साह के साथ पुनः ऐसी महिलाओं को नई पहचान दिलाने का मौका लेकर आया है।

PERFORMING ARTS / परफार्मिंग  आर्ट्स

YOU INSPIRE / यू  इंस्पायर

अनुभा फतेहपुरिया

अभिनेत्री/र्किटेक्ट

अनुभा फतेहपुरिया – अभिनेत्री (1995 से) और आर्किटेक्ट (2001 से) – को उनके रंगमंच अभिनय के लिए संगीत नाटक अकादमी के उस्ताद बिस्मिल्लाह खान युवा पुरस्कार 2013-14, द टेलीग्राफ शी अवार्ड्स 2019 और श्यामल सेन स्मृति पुरस्कार 2007 मिल चुके हैं।

वे हबीब तनवीर, श्यामानंद जालान, उषा गांगुली, राजिंदर नाथ, एलिक पदमसी, व्लोडज़िमिर्ज़ स्टेनिव्स्की, सुमन मुखोपाध्याय, विनय शर्मा, विक्रम अयंगर, जॉन ब्रिटन, पूर्व नरेश जैसे निर्देशकों के साथ काम कर चुकी हैं।

उन्होंने स्वर्गीय श्यामानंद जालान से रंगमंच का गहन प्रशिक्षण लिया। वह 2006 से निर्देशक विनय शर्मा के अधीन थिएटर-मेकिंग की कला सीख रही हैं।

अनुभा वर्तमान में पदातिक थिएटर में डायरेक्टर-प्रोग्राम भी हैं।

स्क्रीन पर उनके निर्देशकों में सीमा पाहवा, प्रसून पांडे, अपर्णा सेन, सुजीत सरकार, अनिरुद्ध रॉय चौधरी, अतुल मोंगिया, लक्ष्मण उटेकर जैसे नाम शामिल हैं।

अनुभा को हिंदुस्तानी वोकल, भरतनाट्यम, विजुअल आर्ट्स, मार्शल आर्ट्स सिखाने वालों में स्वर्गीय गिरिजा देवी, मिताली सेनगुप्ता, थंकमणि कुट्टी, अरूप दास जैसी हस्तियों के नाम शामिल हैं।

नागपुर विश्वविद्यालय से बैचलर्स ऑफ आर्किटेक्चर में गोल्ड मेडलिस्ट अनुभा आर्किटेक्ट बी.वी. दोषी और दुलाल मुखर्जी के अधीन काम कर चुकी हैं। उनके डिजाइन स्टूडियो को हरित प्रथाओं के लिए कई पुरस्कार मिल चुके हैं।

ANUBHA FATEHPURIA
Actor / Architect

Anubha Fatehpuria – actor (since 1995) & architect (since 2001) – is recipient of the Sangeet Natak Akademi’s Ustad Bismillah Khan Yuva Puruskar 2013-14, The Telegraph SHE Awards 2019 and Shyamal Sen Smriti Puraskar 2007 for her theatre acting.

She has worked with directors like Habib Tanveer, Shyamanand Jalan, Usha Ganguli, Rajinder Nath, Alyque Padamsee, Wlodzimierz Staniewski, Suman Mukhopadhyay, Vinay Sharma, Vikarm Iyengar, John Britton, Purva Naresh – to name some.

She received extensive theatre training from Late Shyamanand Jalan. She continues to learn the craft of theatre-making under director Vinay Sharma from 2006 onwards.

Anubha is currently also Director-Programmes at Padatik Theatre.

Her screen directors have been  Seema Pahwa, Prasoon Pandey, Aparna Sen, Shoojit Sircar, Aniruddha Roy Chowdhury, Atul Mongia, Laxman Utekar – to name some.

Anubha is trained in Hindustani Vocal, Bharatnatyam, Visual Arts, Martial Arts under stalwarts like Late Girija Devi, Mitali Sengupta, Thankamani Kutty, Arup Das – to name a few.

A Gold Medallist from Nagpur University for Bachelors in Architecture, Anubha worked under Ar. B.V. Doshi and Ar. Dulal Mukherjee briefly.

Her design studio has received several recognitions for green practices.

शास्वती गराई घोष

डांसर / टीचर / कोरियोग्राफर

शास्वती गराई घोष भारतीय शास्त्रीय नृत्य ओडिसी में प्रशिक्षित नृत्यांगना और कोरियोग्राफर हैं। उन्होंने 1999 में प्रख्यात नृत्यांगना-कोरियोग्राफर शर्मिला बिस्वास से ओडिसी सीखना शुरू किया और गुरु केलुचरण महापात्र, कलानिधि नारायणन, सोनल मानसिंह और दुर्गाचरण रणबीर जैसे दिग्गजों से विशेष प्रशिक्षण लिया। डॉ. कन्नन पुघजेंडी से उन्होंने नृत्य चिकित्सा व फिटनेस प्रशिक्षण लिया। कोलकाता के रवींद्र भारती विश्वविद्यालय से ओडिसी नृत्य में एमए शास्वती कोलकाता में अंगशुद्धि के नाम से डांस स्कूल चलाती हैं। वह देश-विदेश में स्कूलों एवं संस्थानों में वर्कशॉप आयोजित करती हैं। अपनी कला के प्रदर्शन के लिए वे ओडिसी विजन और मूवमेंट सेंटर के साथ और अकेले देश-विदेश के अनेक दौरे कर चुकी हैं। शास्वती को ढेरों पुरस्कार, सम्मान और फैलोशिप मिल चुकी हैं।

PERFORMING ARTS / परफार्मिंग  आर्ट्स

YOU INSPIRE / यू  इंस्पायर

SHASHWATI GARAI GHOSH
शाश्वती गराई घोष
Dancer / Teacher / Choreographer

Shashwati Garai Ghosh, a trained dancer, teacher and choreographer in the Odissi dance form of Indian Classical dance, began receiving Odishi lessons in 1999 under the tutelage of eminent dancer-choreographer Smt Sharmila Biswas. She has received special training from legends such as Guru Kelucharan Mohapatra, Smt Kalanidhi Narayanan, Smt Sonal Mansingh, and Shri Durgacharan Ranbir. Dr Kannan Pughazendi also provided her with dance medicine and fitness training. She holds an MA in Odissi dance from Rabindra Bharati University in Kolkata.

She owns and operates her own dance school, Angashuddhi, in Kolkata, and conducts regular workshops for schools and institutions throughout India and abroad. She has toured extensively in India and abroad, both with the Odissi Vision and Movement Center ensemble and on her own, giving notable performances at prestigious festivals.

Many awards, accolades, and fellowships have been bestowed upon Shashwati throughout her career, including the Ustad Bismillah Khan Yuva Puraskar, Guru Kelucharan Mohapatra Yuva Pratibha Samman (first recipient), Sanskriti-Madhobi Chatterjee Memorial Fellowship, Kalavaahini Senior Fellowship, Nalanda Nritya Nipuna Award, Odissi Jyoti Award, Shringar Man.           

PERFORMING ARTS / परफार्मिंग  आर्ट्स

YOU INSPIRE / यू  इंस्पायर

रिम्पा शिव

तबला वादक

जब रिम्पा शिव की थाप तबले पर पड़ती है तो उठने वाले हर सुर के साथ मानो रोम-रोम रोमांचित हो उठता है। अपनी इसी विधा के दम पर रिम्पा की गिनती दुनिया के अग्रणी कलाकारों में होती है। वे न केवल भारतीय शास्त्रीय संगीत के अनेक प्रमुख कलाकारों के साथ अपनी प्रस्तुति दे चुकी हैं, उनके सोलो परफॉर्मेंस भी एनर्जी और रिदम से लबालब होते हैं। तबला वादक के रूप में उनकी यात्रा 5 साल की उम्र में शुरू हो गई थी, जब उनके पिता पंडित स्वप्न शिव ही उनके गुरु बने। पं. स्वप्न ने रिम्पा को फर्रुखाबाद घराना शैली में प्रशिक्षित करना शुरू किया। उसके बाद रिम्पा सफलता की सीढ़ियां चढ़तीं गईं। उनको राष्ट्रपति पुरस्कार, समुख संगीत शिरोमणि पुरस्कार, संगीत नाटक पुरस्कार सहित अनेक सम्मान मिल चुके हैं। उन पर फ्रेंच डाक्यूमेंट्री भी बन चुकी है – रिम्पा शिव: प्रिंसेस ऑफ तबला।

RIMPA SIVA
Tabla Player

Rimpa Siva is a regular leading performer across the globe and has accompanied many leading artists on the Indian Classical music scene, renowned for her rhythmic and energetic solo performances on tabla.

Her journey as a tabla player started at the age of 5 when she began to be trained by her Guru, her father, Professor Swapan Siva in the Farukhabad gharana style. Since then, she has won several awards and accolades including President’s Award, Samukha Sangeet Shiromani Award, Sangeet Natak Award among many.

She was the subject of French documentary film Rimpa Siva: Princess of Tabla.

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

गुजरात में भूपेंद्र पटेल ही बनेंगे मुख्यमंत्री

गुजरात : गुजरात विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की प्रचंड जीत के बाद भूपेंद्र पटेल ही गुजरात के मुख्यमंत्री बनेंगे। गुजरात भाजपा अध्यक्ष CR आगे पढ़ें »

चिंगड़ीहाटा में बेपरवाह कार ने आठ लोगों को मारी टक्कर

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : विधाननगर दक्षिण थानांतर्गत चिंगड़ीहाटा मोड़ पर एक बेपरवाह कार की टक्कर लगने से एक सिविक वॉलेंटियर सहित 8 लोग गंभीर रूप से आगे पढ़ें »

ऊपर