शादी के बाद बेटी को नहीं बतानी चाहिए मां को ये बातें

कोलकाता : लड़कियां ज्यादातर अपनी मां के करीब होती है। ऐसे में भावनात्मक जुड़ाव होना लाजिमी है। शादी के बाद भी ये जुड़ाव इतना ज्यादा होता है कि वो हर बात अपनी मां से साझा करना चाहती हैं। लेकिन इस बारे में लोगों में मतभेद होता है कि शादीशुदा बेटी को मां के साथ कितनी बातें साझा करनी चाहिए। हालांकि ये एक बेटी के विवेक पर निर्भर करता है कि वो कितनी बातें अपनी गृहस्थी की मां को बताना चाहती हैं। हालांकि कुछ लोगों का कहना है कि ये बातें मां को किसी बेटी को नहीं बतानी चाहिए।
* शादी के बाद बेटी ससुराल में खुश है कि नहीं। ये जानने की उत्सुकता हर मां को होती है। ऐसे में बेटी का फोन कर दिनभर के बारे में बताना बुरा नही है। लेकिन एक बार गृहस्थी जम जाने के बाद दिनभर की बातें कम बताना उचित होगा। क्योंकि कई बार मां को बताई गई बातें उनके तीसरे दृष्टिकोण से हो जाती है। ऐसे में वो किसी बात में पर शंका के बीज बो देती हैं।
*पति से झगड़ा होना लगभग हर कपल के लिए आम बात है। ऐसे में इस बारे में हर बार मां को बताना ठीक नही है। क्योंकि झगड़ा कितनी गंभीर बात पर हुआ है। ये केवल आपको पता है। ऐसे में हो सकता है कि मां का दृष्टिकोण गलत हो। हालांकि अगर मामला गंभीर है तो जरूरी है कि मां को पूरी बात बताई जाए।
* सास के साथ आपकी क्या बॉन्डिग है। ये केवल आपको पता है। ऐसे में सास के साथ क्या बातें हुई। ये हर बार मां को बताना ठीक नही है। मां किसी भी मामले में किसी बाहरी व्यक्ति की तरह बात करेंगी। ऐसे में आपको खुद सोचना है कि किस तरह से घर को सुख-शान्ति के साथ चलाना है। हालांकि यहां पर भी बताना जरूरी है कि बातें अगर गंभीर रूप से आपको प्रभावित कर रहा है तो इस बारे में मां से और परिवार से खुलकर बात करनी जरूरी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब डेढ़ मिनट के अंतराल पर छूटेगी कोलकाता मेट्रो

मेट्रो स्टेशनों पर मिलेगी वाईफाई की सुविधा नार्थ-साउथ मेट्रो में बदले जा रहे हैं सिग्नलिंग सिस्टम इसके लिए पहले ही बुलाए जा चुके हैं टेंडर सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : आगे पढ़ें »

राष्ट्रीय राजनीति की ओर : 12 को मेघालय जाएंगी ममता

पार्टी कर्मियों के साथ करेंगी बैठक सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अगले हफ्ते 12 दिसंबर को मेघालय जाने वाली है। आगे पढ़ें »

ऊपर