अच्छी आदतें अपनायें, फूल जैसी सुगन्ध फैलाएं

सामान्यत: बीमारी हमारी ही गलती से हमारे पास आती है। उसका कारण यह है कि हमें जो गलती नहीं करनी चाहिए, वही करते हैं। बाद में वह हमारी आदत बन जाती है और सिलसिला शुरू हो जाता है, हमारे बीमार होने का।

हम स्वयं कौन-कौन सी गलतियां करते हैं, जानें-

● मुंह में उंगलियां डालना। ऐसा करने से गंदे हाथों से लगे सूक्ष्म जीव व गंदगी हमारे पेट में चली जाती है, जिसके कारण कई प्रकार की बीमारियां होती हैं, जैसे पेट में कीड़े होना, दस्त लगना।

● दांतों को पिन या तिनके से कुरेदने से मसूड़े खराब होते हैं। बार-बार यह क्रिया अपनाने से दांत कमजोर हो जाते हैं। खाने के बाद कुल्ला अवश्य करना चाहिए। खास कर रात में यदि सोते समय ब्रश नहीं कर सकते तो कम से कम 8-10 बार कुल्ला अवश्य करना चाहिए। इससे दांतों में फंसे कण अलग हो जाते हैं।

● बासी भोजन नहीं खाना चाहिए। बाजारू चॉकलेट व टॉफी खाने योग्य नहीं होती। ये सब बीमारी की जड़ हैं।

● बड़े व गन्दे नाखून न रखें। इसमें छिपे गंदगी व सूक्ष्म जीव अलग नहीं हो पाते और ये पेट में चले जाते हैं।

इस तरह और भी नियमों का पालन कर हम अपने आपको सदा स्वस्थ रख सकते हैं।

प्रभाशंकर (स्वास्थ्य दर्पण)

शेयर करें

मुख्य समाचार

विसर्जन के बाद नदी से अवशेष हटायेगा पोर्ट

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : मूर्तियाें के विसर्जन के बाद हुगली नदी में प्रदूषण फैलने से रोकने के लिए हर साल ही श्यामा प्रसाद मुखर्जी पोर्ट आगे पढ़ें »

दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान बाढ़ में डूबने से 7 लोगों की मौत

मालबाजार: मालबाजार शहर से सटे माल नदी में अचानक बाढ़ आने से विसर्जन का कार्यक्रम को प्रशासन के तरफ़ से रोक दिया गया है । आगे पढ़ें »

ऊपर