अधीर रंजन बोले- खुर्शीद अपने मुद्दे पार्टी स्तर पर उठाएं, सिंधिया ने कहा- पार्टी आत्मचिंतन करे

adhir

नई दिल्ली : लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने राहुल गांधी के अध्यक्ष पद छोड़ने पर सवाल उठाने वाले पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद और ज्योतिरादित्य सिंधिया को सीख दी है। उन्होंने पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का बचाव करते हुए कहा कि राज्य विधानसभाओं के चुनाव के समय पार्टी नेताओं को इस तरह के बयानों से बचना चाहिए जिससे हमें नुकसान हो। यदि कोई मुद्दा हैं तब भी इन्हें पार्टी स्तर पर उठाया जाना चाहिए न कि सार्वजनिक रूप से।

अधीर ने की राहुल गांधी की सराहना

अधीर ने राहुल गांधी की सराहना करते हुए कहा कि वह खुर्शीद के बयान का समर्थन नहीं करते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि कई मौकों पर राहुल गांधी ने साफ कहा है कि वह कांग्रेस की हार के लिए अपनी अध्यक्षता को जिम्मेदार मानते हैं। इसी विचार के तहत उन्होंने पार्टी अध्यक्ष के पद को छोड़ने का फैसला लिया। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के इस फैसले ने राजनीति में दुर्लभ उदाहरण पेश किया है। बता दें कि सलमान खुर्शीद ने बुधवार को कहा था कि कांग्रेस की मौजूदा स्थिति देखकर दुखी हूं। हमें विचार करने की जरूरत है कि ऐसी हालत क्यों हुई। कुछ प्रभावी कदम उठाने होंगे, क्योंकि वक्त कम है। हमारे नेता (राहुल गांधी) ने हमें छोड़ दिया। यही सबसे बड़ी दिक्कत है। कांग्रेस के अंदर अभी एक खालीपन है।

आत्मचिंतन करना समय की मांग : सिंधिया

वहीं ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा था कि इस समय कांग्रेस को आत्मचिंतन करने की जरूरत है। पार्टी की जो स्थिति है उसका जायजा ले कर उसके अनुसार सुधार करना चाहिए। समय की यही मांग है। सिंधिया के इस बयान पर चौधरी ने कहा कि हम सभी आत्मचिंतन कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि पूरी स्थिति पर आकलन करने के बाद ही हमने सोनिया गांधी से पार्टी की कमान संभालने की अपील की।

खुर्शीद को अल्वी ने कहा- घर जलाने वाला चिराग

वहीं पार्टी नेता राशिद अल्वी ने भी खुर्शीद की बयान पर हमला बोलते हुए कहा कि पार्टी में आग लगाने वाले नेता मौजूद हैं, बाहरी दुश्मन की जरूरत नहीं। उन्होंने कहा था कि ऐसा लग रहा है कि आज हमें बाहर के दुश्मनों की जरूरत ही नहीं रह गई है। घर को आग लग गई, घर के ही चिराग से। वो हालात हैं। इस तरीके से ना होकर, इकट्ठा होकर मुकाबला करने की जरूरत है।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

dhankhad

सीयू हंगामा : 28 जनवरी ब्लैक डे, शर्म से झुक गया सिर – राज्यपाल

बहुत पीड़ा हो रही है, हिल गया हूं पूरी तरह कर्तव्य पूरा करने से कोई नहीं रोक सकता छात्राओं को खुली बातचीत करने का प्रस्ताव सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : आगे पढ़ें »

बंगाल में सीएए के खिलाफ अवरोध कर रहे लोगों पर बमबाजी व फायरिंग, 2 मरे

मुर्शिदाबाद के जलंगी की घटना तृणमूल के ब्लॉक अध्यक्ष के खिलाफ एफआईआर सन्मार्ग संवाददाता मुर्शिदाबाद / कोलकाता : देश में पहलीबार सीएए के खिलाफ धरना देने वालों पर आगे पढ़ें »

ऊपर