रात को संगीत सुनने की डालें आदत, दूर होगा अनिद्रा और तनाव

कोलकाता : हर दौर के साथ संगीत में कुछ बदलाव बेशक नजर आते हैं लेकिन उसके प्रति दीवानगी में कोई कमी नहीं होती है। वक्त के साथ इस दीवानगी में और भी ज्यादा इजाफा हुआ है। संगीत हर वर्ग के लोगों को पसंद आता है, चाहे छोटे बच्चे हों या बड़े- बुजुर्ग। संगीत के मामले में सबकी पसंद अलग हो सकती है लेकिन उसकी भाषा और काम एक ही है, सुनने वाले को रिलैक्स करना।
* जिंदगी को आसान बनाता है संगीत
कुछ शोध के अनुसार से यह बात सामने आई है कि संगीत का हमारे स्वास्थ्य पर काफी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। म्यूजिक से आपकी जीवन शैली में कई तरह के बदलाव होते हैं, संगीत की मदद से आपकी सेहत के साथ ही व्यवहार और लाइफस्टाइल में भी काफी आश्चर्यजनक बदलाव और फायदे देखने को मिलते हैं।
* तनाव कम करने में करता है मदद
आज-कल की लाइफस्टाइल को देखें तो ज्यादातर लोग तनाव में रहते हैं। हर छोटी-बड़ी बात पर तनाव लेना बेहद आम हो चुका है। ऐसे में संगीत किसी दवा से कम नहीं है। ‘द न्‍यूजथिंग’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कई शोध में यह साबित हुआ है कि संगीत सुनने से तनाव कम होता है और इंसान पर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। अच्‍छी सेहत के साथ बेहतर जिंदगी जीने के लिए भी तनाव से दूर रहना बहुत जरूरी है।
बच्चों के लिए फायदेमंद है संगीत
बच्चों के लिए संगीत सुनना काफी फायेदमंद है। अध्ययनों से पता चला है कि जब उन्हें संगीत सत्र में शामिल किया गया तो उनके ध्यान और संवाद कौशल में सुधार देखने को मिला।
अनिद्रा से निपटने में है मददगार
रिसर्च में यह बात भी सामने आई है कि जिन लोगों को अनिद्रा की परेशानी है, उनके लिए शास्त्रीय संगीत एक इलाज के तौर पर काम करता है। शास्त्रीय संगीत सुनना अनिद्रा का इलाज करने का सबसे सुरक्षित, सस्ता और प्रभावी तरीका है। कुछ शोध के मुताबिक, जो लोग सोने से पहले संगीत सुनते हैं, उन्हें दूसरों के मुकाबले बेहतर नींद आती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

तृणमूल के आरोपों को चुनाव आयोग ने बताया निराधार

कहा - सभी चुनाव अधिकारी तत्परता व कर्मठता से कर रहे काम हमें अपने चुनाव अधिकारियों पर पूरा भरोसा सन्मार्ग संवाददाता नई दिल्ली/कोलकाताः मुख्य निर्वाचन आयोग ने तृणमूल आगे पढ़ें »

दूसरे चरण के लिए 30 सीटों पर नामांकन शुरू

बंगाल में दूसरे चरण के चुनाव में चार जिलों की सीटें शामिल मतदान 1 अप्रैल को कोलकाताः चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल विधानसभा के दूसरे चरण के आगे पढ़ें »

ऊपर