39 साल चला केस, 10 साल काटे जेल में, अब कोर्ट ने कहा – नाबालिग था, रिहा करो

39 years old case, 10 years in prison, now the court said - was a minor, release

नई दिल्ली : बिहार के गया का एक ऐसा केस सामने आया है जो भारत में न्यायपालिका की पोल खोलकर रख देता है। यहां के एक व्यक्ति ने हत्या के आरोप में जिंदगी के 39 साल मुकदमा लड़ने में बिता दिए, इसी केस में वह 10 साल जेल में सड़ा और अब सुप्रीम कोर्ट ने उसे रिहा करने को कह दिया है, क्यों? क्योंकि जिस समय वह अपराध हुआ, उस समय आरोपी नाबालिग था।

चचेरे भाई की हत्या का था आराेप

हुआ यूं कि 1980 में बनारस सिंह ने मामूली कहासुनी पर अपने चचेरे भाई की हत्या कर दी थी। वह उस समय नाबालिग ‌था। लेकिन, निचली अदालत और हाईकोर्ट ने उसे नाबालिग नहीं माना। इस कारण उसे 10 साल तक जेल में रहना पड़ा। 39 साल तक लंबी कानूनी लड़ाई के बाद आरोपी यह साबित करने में सफल रहा कि घटना के समय वह नाबालिग था।

3 साल की सजा होती, 10 साल काट चुका

सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश एनवी रमना की अध्यक्षता वाली बेंच ने बनारस सिंह को नाबालिग माना और फैसला सुनाते हुए कहा कि जुवेनाइल जस्टिस एक्ट के तहत उसे उस वक्त अधिकतम 3 साल कैद की सजा मिलती। ऐसे में वह 10 साल जेल में बिता चुका है जाे उस समय दी जाने वाली सजा से 3 गुना से भी ज्यादा है। ऐसे में उसे तुरंत रिहा किया जाना चाहिए।

प्रमाण पत्र और दस्तावेजों से साबित हुआ

गया की जिला सत्र अदालत ने बनारस काे उम्रकैद की सजा सुनाई थी। इसके बाद उसने पटना हाईकोर्ट में उस फैसले के खिलाफ अपील की। उसने अपील के दाैरान अदालत को बताया कि अपराध के वक्त उसकी उम्र 17 साल 6 महीने थी, इसलिए सजा नाबालिग कानून के अनुसार दी जानी चाहिए। पटना हाईकोर्ट ने 1998 में उसकी अपील खारिज कर दी। अपील खारिज होने के बाद उसने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और 2009 में ‌फिर से अपील की। इस मामले की सुनावाई पूरी करने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने ट्रायल कोर्ट से जवाब मांगा। इसमें 10वीं के प्रमाण पत्र और बाकी दस्तावेजों से साबित हो गया कि बनारस अपराध के समय 17 साल 6 महीने का था। इसी आधार पर सुप्रीम कोर्ट ने उसे रिहा करने का आदेश दे दिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

chidambaram

चिदंबरम हो सकते हैं गिरफ्तार, हाईकोर्ट ने खारिज की अग्रिम जमानत याचिका

नई दिल्ली : दिल्ली उच्च न्यायालय ने कांग्रेस नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम को आईएनएक्स मीडिया घोटाले से जुड़े भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग आगे पढ़ें »

सोने का भाव बढ़कर नये रिकार्ड पर पहुंचा

नयी दिल्लीः आभूषण कारोबारियों की सतत लिवाली से वैश्विक बाजारों में कमजोरी के रुख के बावजूद दिल्ली सर्राफा बाजार में मंगलवार को सोने का भाव आगे पढ़ें »

ऊपर