बदलते मौसम में सर्दी-खांसी और बुखार से बचाएंगी से 3 चीजें

कोलकाता : मौसम अब तेजी के साथ बदलना शुरू हो चुका है, जिस कारण काफी लोगों की तबियत भी खराब होने लगी है। मौसम में यह परिर्वतन वायरल फीवर, गले की खराश, खांसी और सर्दी जुकाम जैसी बीमारियां लेकर आता है। इस दौरान सेहत का विशेष ध्‍यान रखने की जरूरत होती है। आप अपने आहार में कुछ खाद्य पदार्थों को शामिल कर सकते हैं। इससे आप अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बना सकते हैं और कई मौसमी बीमारियों से प्रभावी रूप से बच सकते हैं।
अपने दिन की शुरुआत नारियल तेल से करें
अपने दिन की शुरुआत खाली पेट नारियल के तेल के साथ करें। नारियल के तेल में हेल्‍दी फैट होता है, जो आपके स्वास्थ्य को एक से अधिक तरीकों से बढ़ावा दे सकता है। इसमें रोगाणुरोधी गुण भी होते हैं। अध्ययनों के अनुसार, नारियल का तेल आपके दिल के स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है।
हर दिन अदरक-आंवला का शॉट लें
अदरक-आंवलाजो कि हर रसोई में पाया जाता है। इसका उपयोग चाय बनाने में किया जाता है। अदरक में जिंजरॉल होता है, जिसमें शक्तिशाली औषधीय गुण होते हैं। यह बहुत ही शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी एजेंट के रूप में काम करता है, खासकर जब विटामिन सी के साथ जोड़ा जाता है। पोषण विशेषज्ञ का सुझाव है कि आप हर दिन अदरक और आंवला का शॉट ले सकते हैं। इसे बनाने के लिए ताजे आंवले का रस 30 मिलीलीटर और अदरक का रस एक चम्मच सुबह लें, लेकिन इसके बाद चाय न लें।
बी-पॉलन का सेवन भी फायदेमंद
बी पॉलन का सेवन करने से द्रव्यमान की सक्रियता को कम करने और बाधित करने में मदद मिलती है, जो एलर्जी को रोकने में एक बहुत महत्वपूर्ण कदम है। लेकिन सुनिश्चित करें कि आप इसे किसी लोकल जगह से प्राप्‍त करें, क्योंकि यह पराग के प्रतिरोध को बनाने में आपकी मदद करता है, जिससे आपको एलर्जी हो सकती है।

Visited 154 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

National Science Day 2024: आज के दिन क्यों मनाया जाता है नेशनल साइंस डे? जानें यहां

नई दिल्ली: आज नेशनल साइंस डे है। हर आज के दिन ही देश के महान वैज्ञानिक CV रमन ने प्रकाश की फोटोन थ्योरी से जुड़ी आगे पढ़ें »

Himachal Political Crisis: हिमाचल प्रदेश में सियासी उठापटक, CM सुक्खू ने इस्तीफे से किया इनकार

शिमला: हिमाचल प्रदेश में सियासी उठापटक जारी है। विधानसभा में आज बुधवार(28 फरवरी) को जमकर हंगामा हुआ। इस बीच BJP के 15 विधायकों को सदन आगे पढ़ें »

ऊपर