कोरोना वैक्सीनेशनः पहले दिन 25 लाख लोगों ने किया रजिस्ट्रेशन

नई दिल्लीः देश में कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे फेज के पहले दिन Co-Win पोर्टल पर करीब 25 लाख लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया। इनमें 24.5 लाख आम लोग और बाकी हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स शामिल हैं। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक, देश में 16 जनवरी को शुरू हुए वैक्सीनेशन के 45वें दिन (सोमवार) शाम 7 बजे तक कुल 4 लाख 27 हजार 72 लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया। इनमें 3 लाख 25 हजार 485 लोगों को पहला डोज और एक लाख एक हजार 587 हेल्थकेयर वर्कर्स को दूसरा डोज दिया गया।

1.47 करोड़ कोरोना की डोज दी जा चुकी
हेल्थ मिनिस्ट्री की प्रोविजनल रिपोर्ट के मुताबिक, पहले दिन 60 साल से ज्यादा उम्र के एक लाख 28 हजार 430 लोगों को कोरोना वैक्सीन का पहला डोज दिया गया। गंभीर बीमारियों से जूझ रहे 45 साल से ज्यादा उम्र के 18,850 लोगों को भी टीका लगाया गया। ओवरऑल देश में अब तक 1.47 करोड़ कोरोना की डोज दी जा चुकी है। दूसरे फेज 60 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लगेगी। इसके साथ ही 45 से 60 वर्ष की उम्र के ऐसे लोगों को भी वैक्सीन लगेगी, जो गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं। केंद्र सरकार का आकलन है कि करीब 27 करोड़ लोग इस कैटेगरी में आते हैं।

24 हजार लोकेशंस पर वैक्सीनेशन
लोग अपने घर के पास के सेंटर पर अपॉइंटमेंट ले सकेंगे। फिलहाल सरकारी अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों में ही वैक्सीनेशन हो रहा है। ये करीब 12 हजार हैं। आयुष्मान भारत एम्पैनल्ड अस्पतालों या सीजीएचएस हॉस्पिटल्स भी शामिल होंगे, जो 12,000 हैं। इस तरह कुल 24 हजार लोकेशंस पर वैक्सीनेशन होगा।

कोविन ऐप पर नहीं होगा रजिस्ट्रेशन
कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए पहले दिन कोविन ऐप पर रजिस्ट्रेशन में आई दिक्कतों के बाद हेल्थ मिनिस्ट्री ने कहा कि Co-WIN ऐप के बजाय वेबसाइट पर ही वैक्सीनेशन के लिए अपॉइंटमेंट लें। मंत्रालय ने कहा कि कोविन ऐप सिर्फ कोविड-19 वैक्सीन के एडमिनिस्ट्रेशन से जुड़े मामलों के लिए है। रजिस्ट्रेशन और अपॉइंटमेंट के लिए नहीं। हेल्थ मंत्रालय ने कहा कि अगर आपको वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन कराना है और अपॉइंटमेंट लेना है तो उसके लिए http://cowin.gov.in पर जाएं।

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोरोना संकट के बीच रेलवे ने कसी कमर, चलाई जाएंगी ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ ट्रेनें

नई दिल्लीः देश में कोरोना के मामले रोज नया रेकॉर्ड बना रहे हैं और इसके साथ ही देश के कई राज्यों में ऑक्सीजन की कमी की आगे पढ़ें »

कितने दिनों में कोविड मरीज ठीक होते हैं या हालत हो जाती है खराब, 14 दिन की लिमिट का क्या है मतलब

कोलकाताः भारत के साथ-साथ दुनिया के तमाम देशों में कोरोना वायरस का कोहराम जारी है। कोरोना के तेजी से बढ़ रहे मामलों की वजह से आगे पढ़ें »

ऊपर