विनायक चतुर्थी पर बन रहे 2 बेहद शुभ योग, जानें पूजा का शुभ मुहूर्त और विधि

कोलकाताः हर महीने में 2 बार चतुर्थी पड़ती है, हिंदू धर्म में चतुर्थी तिथि भगवान गणेश को समर्पित की गई है। मार्गशीर्ष माह के शुक्‍ल पक्ष की चतुर्थी 27 नवंबर 2022, रविवार को है। शुक्‍ल पक्ष की चतुर्थी को विनायक चतुर्थी कहते हैं। मान्‍यता है कि इस दिन भगवान गणेश की विधि-विधान से पूजा करने से जीवन की सारी बाधाएं दूर होती हैं, लेकिन इस दिन चंद्रमा को नहीं देखना चाहिए। मान्‍यता है कि इस दिन चंद्रमा देखने से कलंक लगता है।

मार्गशीर्ष विनायक चतुर्थी 2022 तिथि, पूजा मुहूर्त 

हिंदू पंचांग के अनुसार, मार्गशीर्ष माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी ति​थि 26 नवंबर, शनिवार की शाम 07 बजकर 28 मिनट पर प्रारंभ होकर 27 नवंबर रविवार की शाम 04 बजकर 25 मिनट तक रहेगी। उदयातिथि के अनुसार  मार्गशीर्ष माह की विनायक चतुर्थी का व्रत 27 नवंबर को रखा जाएगा। इस दिन पूजा करने के लिए सबसे शुभ समय सुबह 11 बजकर 06 मिनट से दोपहर 01 बजकर 12 मिनट तक है।

विनायक चतुर्थी पर बने 2 शुभ योग

मार्गशीर्ष विनायक चतुर्थी के दिन 2 बेहद शुभ योग बन रहे हैं। 27 नवंबर को सर्वार्थ सिद्धि योग और रवि योग बन रहे हैं। 27 नवंबर 2022 की सुबह 06 बजकर 53 मिनट से दोपहर 12 बजकर 38 मिनट तक रव‍ि योग रहेगा। वहीं 27 नवंबर की दोपहर 12 बजकर 38 मिनट से 28 नंवबर की सुबह 06 बजकर 54 मिनट तक सर्वार्थ सिद्धि योग है। इन दोनों योग को शुभ कार्य करने और पूजा-पाठ के लिए बेहद शुभ माना गया है। इस समय पूजा करने से गणपति बप्‍पा सारी मनोकामनाएं पूरी करते हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

पंचायत चुनाव में क्यूआर कोड वाले बैलट बॉक्स का किया जायेगा इस्तेमाल

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव जहां केंद्रीय वाहिनी की निगरानी में होने की बात है, वहीं इस चुनाव में आगे पढ़ें »

डायमण्ड हार्बर में सुकांत के सामने भिड़े भाजपाई, पार्टी ने कहा, राजनीतिक विवाद नहीं

डायमण्ड हार्बर में सुकांत के सामने भिड़े भाजपाई, पार्टी ने कहा, राजनीतिक विवाद नहीं सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शनिवार को डायमण्ड हार्बर में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुकांत आगे पढ़ें »

ऊपर