रोजाना खाइए एक चम्मच शहद, बीमारियां रहेंगी दूर

नई दिल्ली : शहद स्वाद में अच्छा होने के साथ ही खूबियों से भरपूर है। शहद में कई तरह के जरूरी पोषक तत्व पाए जाते है, लेकिन इसका इस्तेमाल सही तरीके से और संतुलित मात्रा में किया जाना चाहिए। दरअसल इसमें फ्रुक्टोज की मात्रा (लगभग 53 प्रतिशत) बहुत ज्यादा होती है। एक चम्मच शहद में 4 ग्राम फ्रुक्टोज होता है, जिसका मतलब यह है कि यह इंसुनिन रेजिस्टेंस जैसी स्थिति को बढ़ा सकता है। जटिलताओं से बचने के लिए रोजाना 25 ग्राम से कम फ्रुक्टोज लेना चाहिए। कुछ मामलों में रॉ हनी को पसंद किया जाता है। हालाँकि कुछ अध्ययनों कहते हैं कि रॉ हनी से फूड पॉजिनिंग होता है।

शहद और दालचीनी एक साथ लेना फायदेमंद है। दालचीनी भी सूजन और कैंसर से लड़ता है, इसलिए इन दोनों को एक साथ लेना अधिक फायदेमंद है। दोनों को साथ लेने से हार्ट डिजीज का रिस्क भी कम होता है। इसके अलावा, कुछ शोध कहते हैं कि लहसुन और शहद का कॉम्बिनेशन भी एक साथ लेना अच्छा होता है। इसके लिए 2-3 लहसुन की कलियों को काटकर एक चम्मच शहद में मिलाकर लें। आयुर्वेदिक एक्सपर्ट्स का कहना है कि शहद प्रकृति का अनमोल वरदान है जो आपको कई तरह की बीमारियों से बचाता है। शहद हर तरह की बिगड़ी वायु को ठीक करता है, किडनी स्टोन को तोड़ता है, पुराने बलगम को खत्म करता है, लिवर को मजबूत करता है, बॉडी को डिटॉक्स करता है, महिलाओं का रुका हुआ मासिक-धर्म जारी करता है और दूध को बढ़ाता है। शहद पेट मे जाते ही तुरंत पचकर ब्लड में मिल जाता है और ताकत देता है।

शहद के साथ खास बात यह है कि इसे जिस चीज के साथ लिया जाता है, इसकी तासिर वैसी ही हो जाती है। गर्म चीज के साथ लें तो- गर्म प्रभाव और ठंडी चीज के साथ लेने से ठंडा।  शहद में पोटैशियम होता है, जो किसी भी रोग के कीटाणुओं का नाश करता है। कीटाणुओं से होने वाले रोग- जैसे आंतरिक बुखार (टायफायड) ब्रान्कोनिमानियां आदि अनेक रोगों के कीटाणु शहद से खत्म हो जाते हैं। इसमें बॉडी के लिए जरूरी मिनरल जैसे मैगनीज, आयरन, कॉपर, सिलिका, पोटैशियम, कैल्शियम, फॉस्फोरस, आयोडीन, गन्धक, कैरोटिन और एण्टीसेप्टिक तत्व आदि पाये जाते हैं। इनमें मनुका शहद को सबसे अच्छा माना जाता है।

ब्लडप्रेशर और कोलेस्ट्रॉल में फायदेमंद
एक अध्ययन के मुताबिक शहद हाई ब्लडप्रेशर के लिए फायदेमंद है और 30 दिनों में 70 ग्राम शहद का सेवन करने पर कोलेस्ट्रॉल के स्तर में 3 प्रतिशत की कमी देखी गई। एक अन्य अध्ययन में 8 प्रतिशत की कमी देखी गई। साथ ही अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर में वृद्धि भी देखी गई। एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक शहद कोलेस्ट्रॉल से लड़ता है और शहद में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट फ्री रे‍डिकल्स के डैमेज से बॉडी की रक्षा करते हैं।

कोल्ड और कफ में राहत
एक शोध के मुताबिक शहद एक प्रभावी कफ सप्रेजेंट हो सकता है। रात में खांसी को कम करने और बच्चों में नींद में सुधार करने के लिए शहद को कारगर पाया गया था और शहद डेक्सट्रो मेथोरफेन के रूप में प्रभावी होता है। वहीं इसे गर्म पानी और नींबू के साथ लेने से कोल्ड को दूर करने में भी मदद मिलती है।

घाव और जले का इलाज
इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं, जो बैक्टीरिया की वृद्धि को रोकते हैं और इसलिए इसे घावों, कटे और जले हुए स्थानों पर तथा खरोंच पर लगाया जाता है।

वजन कम करें
यह वजन कम करता है और इससे कोई नुकसान ही नहीं होता। यह मेटाबॉलिज़्म को बढ़ाता है , इसके लिए सुबह खाली पेट नींबू पानी में शहद मिलाकर सेवन करें।

इम्यूनिटी बढ़ाता है शहद
खासकर मनुका शहद इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करता है।साथ ही यह इम्यून सिस्टम को भी सही करता है।

टॉन्सिलिटिस का इलाज
मनुका शहद टॉन्सिलिटिस के लिए अच्छा माना जाता है। इसमें मेथिल ग्लोक्सिल कॉन्टेंट ज्या दा होता है जो ट्रेप्टोकोकस बैक्टेरियम नामक बैक्टीारिया को मारता है, यह टॉन्सिलिटिस के लिए जिम्मेदार है। शहद के साथ गर्म पानी टॉन्सिलिटिस के लिए अच्छा इलाज हो सकता है।

दिल के लिए भी अच्छा
यह ब्लड को साफ करता है। दिल को मजबूत करने, हृदय सही तरीके से काम करने और हृदय संबंधी रोगों से बचने के लिए प्रतिदिन शहद खाना अच्छा होता है। साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट होता है जो हार्ट की रक्षा करता है।

आंखों की रौशनी होती है तेज
शहद के उपयोग से अनेक बीमारियां दूर होती हैं। इससे आंखों की रोशनी बढ़ती है और मोतियाबिंद जैसी बीमारियां दूर होती हैं।

त्वचा को देता है पोषण
इसमें एंटीबैक्टीरियल तत्व होते हैं, जो नमी प्रदान करते हैं औऱ दाग-धब्बों को दूर करते हैं। त्वचा की ड्राईनेस दूर करने के लिए शहद, मलाई और बेसन का पैक चेहरे पर लगाना चाहिए, इससे त्वचा में चमक आ जाती है। शहद के सेवन से झाइयां और मुंहासे भी दूर होते हैं। गुलाबजल, नींबू और शहद मिलाकर भी चेहरे पर लगा सकते हैं। शहद में विटामिन ए, बी, सी, आयरन, कैल्शियम, सोडियम फास्फोरस, आयोडीन पाए जाते हैं। रोजाना शहद का सेवन करने से बॉडी में शक्ति, स्फूर्ति, और ताजगी आती है और रोगों से लड़ने की शक्ति भी बढ़ाता है।

कैंसर को रोकता है शहद
शहद में फेनोलिक यौगिकों में एंटी कैंसर गुण होते हैं जो हर प्रकार के कैंसर को रोकते हैं। शहद में एंटी इनफ्लैमेट्री गुण होते हैं जो कैंसर रोकता है। शहद बॉडी की इम्यूनिटी को भी व्यवस्थित करता है जो इसे कैंसर उपचार में और प्रभावी बनाने के लिए हेल्प करती है। शहद में एंटी प्रोलीफेरिटीव गुण होते हैं जो कैंसर को रोकते हैं।

मुंह की बीमारियों के लिए अच्छा
इसे पानी में मिलाकर कुल्ला करने से मुंह के छाले ठीक हो जाते हैं। यह दांत दर्द दूर करता है। दांत में दर्द हो तो कॉटन पैड को शहद में भिगोकर दर्द वाली जगह रखें, इससे दांत दर्द में राहत मिलती है। शहद सांस की बीमारियों में भी फायदेमंद है

बढ़ाता है हीमोग्लोबिन
नियमित सेवन से रक्त शुद्ध होता है और एनीमिया की समस्या दूर हो जाती है। इसमें विटामिन बी और विटामिन सी के साथ एंटीऑक्सीडेंट तत्व भी पाए जाते हैं, जो हमारी इम्यूसनिटी को बढाने में सहायक होते हैं।

कब्ज दूर करता है
पेट में सूजन, एसिड रिफ्लेक्स, अपच, कब्ज, अल्सर या इरिटेबल बाउल सिंड्रोम में मनुका शहद बहुत लाभकारी होता है। पेट की समस्या हो तो एक कप गर्म पानी में एक चम्मच शहद डालकर लें।

बूस्ट करता है एनर्जी
इसमें एंजाइम, प्रोटीन, मिनरल और अमीनो एसिड होते हैं, जो एनर्जी देते हैं। एक अध्ययन के मुताबिक एक्सरसाइज के दौरान एनर्जी लेवल को पूरा करता है।

चिंता से दूर करें
शहद के सेवन से नींद अच्छी आती है, यह अनिद्रा का अच्छा इलाज है। सोने से ग्रीन टी में शहद मिलाकर पीने से चिंता से राहत मिल सकती है।

Visited 677 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

IPL 2024 को लेकर सामने आई बड़ी जानकारी, इस तारीख से खेला जाएगा

नई दिल्ली: भारत समेत दुनियाभर के क्रिकेट प्रेमियों के लिए बड़ी खुशखबरी है। IPL 2024 को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है। IPL के आगे पढ़ें »

Kolkata Metro: पांच रुपये में ही मेट्रो से पार कर सकेंगे गंगा!

मोदी के बंगाल दौरे से हावड़ा-एस्प्लेनेड मेट्रो उद्घाटन की अटकलें तेज कोलकाता: हावड़ा से कोलकाता बस से जाने वाले यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। आगे पढ़ें »

ऊपर