अंडरवेयर के बारे में वो 10 सवाल जिन्हें पूछने में आप और हम हमेशा झिझकते हैं

कोलकाताः महिलाओं की सेहत और स्वास्थ्य में अंडरगारमेंट्स खासकर अंडरवेयर का बहुत अहम रोल है। अक्सर अंडरवेयर के स्वास्थ्य से आपके वैजाइना का स्वास्थ्य प्रभावित होता है।
  • क्या एक ही अंडरवेयर 2 दिन लगातार पहना जा सकता है?
डॉक्टरों का कहना है कि एक ही पेंटी को दूसरे दिन भी पहनना स्वास्थ्य पर कोई खास बुरा प्रभाव नहीं डालता है।  लेकिन आपको यह चीज याद रखनी चाहिए कि दूसरे दिन जब आप उसे पहनने जा रही हों तो वो नम ना हो, ना ही उसमें यूरिन और वाइट डिस्चार्ज के दाग लगे हो। अगर ऐसा है तो उस पेंटी को धो देना ही बेहतर है। अगले दिन के लिए साफ और फ्रेश अंडरवेयर का चुनाव करें।
  • क्या अंडरवेयर के कपड़े से कोई फर्क पड़ता है?
हां बिल्कुल। जो अंडरवेयर आप पहनती हैं उनका आपके जेनिटल्स और वेजाइनल स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव पड़ता है। डॉक्टर कहते हैं कि जेनिटल की किसी भी बीमारी से बचाव के लिए हर रोज साफ और कॉटन की थोड़ी ढीली अंडरवेयर पहने, जिससे आपके जेनिटल्स को सांस लेने में मदद मिले। थॉन्ग्स या बहुत टाइट फिटिंग की पैंटी तभी पहने जब कोई खास अवसर हो।
  • क्या थॉन्ग्स पहनकर वर्कआउट किया जा सकता है?
हालांकि इस बारे में अभी बहुत रिसर्च हुई नहीं है। लेकिन जैसा कि आप भी जानती हैं थॉन्ग्स बहुत फिटिंग की अंडरवेयर का प्रकार है। वर्कआउट करते समय आप के बाहरी अंगों के साथ ही जेनिटल्स  भी पसीने से तरबतर हो जाते हैं। ऐसे में थॉन्ग्स का कपड़ा पसीना सोख नहीं पाता। इसीलिए कोशिश करें कि वर्कआउट करते समय कॉटन की सिंपल अंडरवेयर ही पहने। इससे वो आपका पसीना भी सुखायेगी और बैक्टीरियल इंफेक्शन से भी बचाव प्रदान करेगी।
  • क्या बिना अंडरवेयर के बाहर जाना चाहिए?
यह बेहद ही सब्जेक्टिव सवाल है और हर व्यक्ति के लिए इसका जवाब अलग हो सकता है। जैसे बहुत सी महिलाएं आजकल बिना ब्रा पहने बाहर जाना पसंद करने लगी हैं। वैसे ही बिना अंडरवेयर घर से बाहर जाने में कोई बुराई नहीं है। बस आपको इस बात का कॉन्फिडेंस होना चाहिए। अगर आपके पीरियड्स के दिन करीब है तो अपने बैग में  एक साफ अंडरवेयर जरूर रखें। जरूरत पड़ने पर आप इसका इस्तेमाल कर सकेंगे।
  • बेहतर क्या है साधारण पैंटीज या जी-स्ट्रिंग्स?
स्ट्रिंग्स यानी पतले से धागे की बनी अंडरवेयर जिसे थॉन्ग्स भी कहा जाता है। अगर आपको वेजाइनल इनफेक्शन कभी हो चुका है तो नियमित रूप से जी-स्ट्रिंग्स पहनना आपके लिए सही नहीं है। इसके साथ ही डॉक्टर यह सलाह देते हैं कि आपको ढीले और कॉटन की कन्फर्टेबल पैंटी ही नियमित रूप से पहननी चाहिए। यहां ढीले से हमारा मतलब उसके कपड़े से है ना कि उसके इलास्टिक से।
  • क्या पैंटीज की कोई एक्सपायरी डेट होती है?
वैसे तो यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप अपनी पैंटीज को किस तरह से रखती है। अधिकतर पैंटीज को सॉफ्ट डिटर्जेंट में धोकर हवा में सुखाना चाहिए। इससे उनका स्वास्थ्य बना रहता है। लेकिन अगर कोई पेंटिंग ऐसी है जिसका इलास्टिक ढीला हो चुका है, उसमें छेद हो गए हैं, उसमें पीरियड और वाइट डिस्चार्ज के दाग लगे हैं और उसका रंग अब ऐसा नहीं रहा जैसा आपने खरीदा था तो बेहतर है कि आपको ऐसे फेंक देना चाहिए।
  • टाइट या ढीली अंडरवेयर में से क्या बेहतर है?
जब बात आपके अंडरवेयर के हो तो जाहिर सी बात है आप नहीं चाहेंगे कि वो आपके चलते-चलते नीचे गिर जाए।  इसीलिए अपने लिए ऐसी अंडरवेयर का चुनाव करें जिसका इलास्टिक आपको सही फिट आता हो। ऐसे इलास्टिक वाले अंडरवेयर लेने से भी बचें जो आपके पेट और कमर पर गहरा निशान छोड़ जाते हैं और कई बार आपका सांस लेना भी दूभर कर देते हैं। इसके साथ ही कोशिश करें कि अंडरवेयर का कपड़ा सांस लेने लायक हो। भारत जैसे देश में जहां 8 महीने गर्मियां पड़ती है, हमारे जेनिटल्स को भी सांस लेने की जरूरत होती है। इसीलिए कॉटन के कपड़े की सही फिटिंग की अंडरवेयर पहनना एक बेसिक जरूरत है।
  • अंडरवेयर को धोने का सही तरीका क्या है?
बेहतर स्वास्थ्य और वेजाइनल हेल्थ के लिए यह जरूरी है कि आप अपने अंडरवेयर को वॉशिंग मशीन में ना धोकर अपने हाथों से ही धोएं। इसके लिए सॉफ्ट डिटर्जेंट का इस्तेमाल करें क्योंकि यह आपके वैजाइना से हर वक्त करीब रहती है। हार्श केमिकल्स वैजाइना के स्वास्थ्य को बिगाड़ सकते हैं।
  • क्या रोजाना वैजाइनल डिस्चार्ज पर ध्यान देना जरूरी है?
आपकी अंडरवेयर ही वो जरिया है जिससे आपको अपने डिस्चार्ज के बारे में पता चलता है। ऐसा जरूरी नहीं है कि आप हर समय अपने डिस्चार्ज पर ध्यान दें। अगर आपको हमेशा की तुलना में इसमें कुछ अलग स्मेल या रंग नजर आए तब डॉक्टर से संपर्क करें। हर दिन अपने वेजाइनल डिसचार्ज पर ध्यान देना कोई जरूरी नहीं।
  • क्या अंडरवेयर के बिना सोना सही है?
जी हां, डॉक्टर कहते हैं कि आप को सोते समय अंडरवेयर नहीं पहननी चाहिए। यह आपके यूरिनरी ट्रैक्ट और वेजाइनल स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है। इससे आपके उन अंगों को सांस लेना की जगह मिल जाती है जो दिन भर बंद और पसीने  का सामना करते हैं। अगर आपको बहुत अधिक वैजाइना फ्लो होता हो या वैजाइना से जुड़ी कोई दूसरी समस्या हो तो डॉक्टर आपको यही सलाह देंगे कि सोते समय जहां तक हो सके अंडरवेयर ना पहने।  लेकिन अगर आपकी परिस्थिति में संभव नहीं है तो अंडरवेयर की जगह ढीला और कॉटन का पजामा पहन कर सोएं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

बॉयफ्रेंड ने शादी करने के बहाने बुलाया, गला दबाकर की हत्या, लाश दफनाकर डाल दिया नमक

लुधियाना : पंजाब से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां बॉयफ्रेंड ने शादी के बहाने गर्लफ्रेंड को बुलाया और अपने साथियों के आगे पढ़ें »

शादी में बवाल, लाठी-डंडों से बारातियों की पिटाई, दूल्हे की गाड़ी भी तोड़ी

लखनऊ : लखनऊ में बीती रात कुछ दबंगों ने हथियारों के बल पर एक शादी में जमकर उत्पात मचाया। लाठी, डंडे और रॉड से बारातियों आगे पढ़ें »

ऊपर