होली के दिन न तोड़ें रिश्तों की ये मर्यादाएं, नहीं तो हमेशा के लिए दूर हो जाएंगे आपके अपने

कोलकाताः होली को ऐसा त्योहार माना जाता है, जिसमें लोग पुराने गिले-शिकवे भुलाकर एक बार फिर करीब आ जाते हैं। हालांकि, ये भी नहीं भूलना चाहिए कि हर फेस्टिवल अपने साथ ढेरों भावनाएं और मर्यादाएं लेकर भी आता है, जिन्हें किसी भी हाल में या जाने-अनजाने ठेस पहुंचाने व तोड़ने की कोशिश नहीं करना चाहिए। इसका ख्याल अगर नहीं रखा गया, तो अपनों को करीब लाने वाला रंगों का त्योहार उन्हें आपसे दूर कर सकता है।हर परिवार का होता है अपना तरीका
त्योहार चाहे जो भी हो, उसे मनाने का हर परिवार का अपना तरीका होता है। उदाहरण के लिए, अगर आपको होली में धमाचौकड़ी करना पसंद है, लेकिन आप अपने जिस रिश्तेदार, दोस्त या उसके परिवार के साथ फेस्टिवल मनाने जा रहे हैं, उन्हें ये सब पसंद नहीं, तो आपकी प्राथमिकता ये होनी चाहिए कि आप ऐसा कुछ न करें, जो उन्हें हर्ट करें।

जबरन रंग लगाना
होली के दिन लोग सबसे बड़ी भूल, दूसरे व्यक्ति को रंग लगाने के तरीके को लेकर करते हैं। इस त्योहार पर कई लोग दूसरों को जबरन रंग लगा देते हैं। ऐसा करने वाले ये सोच रखते हैं कि फेस्टिवल पर तो ‘चलता है’। हालांकि, ये उनकी सबसे बड़ी भूल होती है, क्योंकि जबरन रंग लगाना बड़ी लड़ाई तक का रूप ले सकता है और रिश्तों को बहुत बुरी तरह से नुकसान पहुंचा सकता है। अगर लड़ाई न भी हो, तो किसी को आपका जबरदस्ती रंग लगाना बुरा लग सकता है और ये हमेशा के लिए उनके मन में आपके प्रति नकारात्मक छवि बना देगा।

 
आप चाहे घर की किसी फीमेल मेंबर के साथ होली खेल रहे हों या फिर अपनी फीमेल फ्रेंड के साथ, उनकी गरिमा का हमेशा ध्यान रखें। न तो उन्हें जबरन रंग लगाएं, न उन्हें प्रेशराइज करें और ना ही बलून फेंकने या रंगों से भरे टब में डालने जैसी हरकत करें। यहां तक कि उन्हें रंग लगाएं भी, तो शिष्टाचार बरकरार रखें। ये बात सिर्फ लड़कों को लिए ही नहीं, बल्कि लड़कियों को भी ध्यान में रखनी चाहिए।नशा
भांग या शराब से दूरी रखें, तो बहुत ही अच्छा है। अगर आप इनका सेवन करते हैं, तो उसे लिमिटिड ही रखें। अक्सर देखा जाता है कि व्यक्ति नशे में इतना चूर हो जाता है कि उसे ये तक एहसास नहीं होता कि वह आखिर कर क्या रहा है? ऐसे में उसके द्वारा की गई कोई हरकत, बड़े झगड़े या मारपीट तक की नौबत ला सकती है। वहीं नशे के कारण किसी प्रकार के हादसे की आशंका भी बढ़ जाती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

विश्व की महान संस्कृति का ध्वजवाहक है हिन्‍दू नववर्ष

मंगलवार से शुरू हो जायेगा नववर्ष कोलकाताः हिन्‍दू नववर्ष जो कि विश्व की महान संस्कृति का ध्वजवाहक है। इस बार नववर्ष आगामी 13 अप्रैल यानी कि आगे पढ़ें »

आइकोर की डायरेक्टर को ईडी ने मंगलवार को बुलाया

कोलकाता : आइकोर की डायरेक्टर कणिका माइती को ईडी की टीम ने मंगलवार को तलब किया है। आईकोर की छानबीन हाल ही में सीबीआई ने आगे पढ़ें »

ऊपर