हरी घास पर रोजाना 20 मिनट नंगे पैर चलने की डालें आदत, मिलेंगे गजब के फायदे

कोलकाता : आपके बड़े बुजुर्ग अक्सर नंगे पैर घास पर चलने की सलाह देते होंगे, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर ऐसा क्यों कहा जाता है। आज के दौर में हम बिना चप्पल, जूते के बाहर नहीं निकल पाते, इसलिए नंगे पैर चलने का ट्रेंड तकरीबन खत्म हो चुका है। कई हेल्थ एक्सपर्ट भी इस बात को जोर देकर कहते कि हमें रोजाना सुबह उठकर नंगे पैर गीली घास पर कम से कम 20 मिनट जरूर टहलना चाहिए इससे होने वाले फायदों को सुनकर आप हैरान रह जाएंगे।
नंगे पैर घास में चलने के फायदे
1. आंखों को फायदा
अगर आप सुबह उठकर नंगे पैर हरी घास पर चहलकदमी करते हैं तो इससे पैरों के तलवों पर दवाब पड़ेगा। दरअसल हमारे शरीर के कई अंगों का प्रेशर प्वाइंट हमारे तलवों में होता है। इसमें आंखें भी शामिल हैं, सही प्वाइंट पर दवाब पड़ने पर हमारे आंखों की रोशनी जरूर बढ़ जाएगी।
2. एलर्जी का इलाज
सुबह-सुबह ओस से भरी घास पर चलना स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी माना जाता है, क्योंकि इससे हमें ग्रीन थेरेपी मिलती है। इससे पांवों के नीचे की कोमल सेल्स से जुड़े नर्व्स एक्टिव हो जाते हैं और सिग्नल को ब्रेन तक पहुंचा देते हैं, जिससे एलर्जी जैसी समस्या दूर हो जाती है।
3. पैरों का रिलैक्सेशन
पैरों पर जब हम भीगी घास पर रखते हुए थोड़ी देर चहलकदमी करते है तो इससे एक बेहतरीन फुट मसाज होता है। ऐसे में पैरों के मसल्स को काफी रिलैक्स मिलता है, जिससे हल्के फुल्का दर्द दूर हो जाता है।
4. टेंशन से निजात
शायद ये आप नहीं जानते होंगे कि लेकिन मॉर्निंग टाइम में नंगे पैर घास पर चलना हमारे मेंटल हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद है। इससे माइंड रिलेक्स हो जाता है और टेंशन से निजात मिलती है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

स्वास्थ्य साथी के बावजूद अस्पताल ने वसूले रुपये, लगाया गया जुर्माना

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : स्वास्थ्य साथी कार्ड दिखाकर अस्पताल में भर्ती होने के बावजूद मरीज के परिजनों से नकद रुपये लिये जाने का आरोप न्यूटाउन के आगे पढ़ें »

प्रेमिका की हत्या कर शव को दफनाया

खड़गपुर : पश्चिम मिदनापुर जिले के खड़गपुर लोकल थाना इलाके के एक गांव में रहने वाली एक महिला को मार कर दफना दिए जाने के आगे पढ़ें »

ऊपर