सेक्स से जुड़ी इस अजीब प्रथाओं को जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

बेडरूम में सेक्स के दौरान तरह-तरह की चीजों के साथ एक्सपेरिमेंट करना बहुत ही आम बात है, जो लोग करते हैं। चाहे वह विभिन्न सेक्स पोजीशन आजमाना हो या सेक्स टॉयज के साथ सेक्स को रोमांचक बनाना, ये सभी तरीके सेक्स को पूर्ण रूप से एन्जॉय करने के तरीके हैं। इस तरह के एक्सपेरिमेंट रिश्तों की गर्माहट और मस्ती को बरकरार रखने में मदद करते हैं। हालांकि, दुनिया भर में प्रचलित ऐसी कई सेक्स प्रथाएं हैं, जिनके बारे में जानकर आप हैरान और चकित रह जाएंगे। तो आइए, जानते हैं पर ऐसी ही कुछ प्रथाओं पर एक नज़र।
ऑस्ट्रिया के ग्रामीण इलाकों में महिलाएं अपने साथी को खिलाती हैं कांख में दबाकर रखे गए सेब
ऑस्ट्रिया के ग्रामीण इलाकों में, युवा महिलाएं एक पारंपरिक नृत्य करने के दौरान अपनी कांख में सेब के स्लाइस भर कर रखती हैं, जिससे कि उनके कांख की खुशबू सेब में समा जाए। नृत्य पूरा होने के बाद, महिलाएं उस पुरुष के पास जाती हैं जिसे वे पसंद करती हैं और उसे सेब का एक टुकड़ा देती हैं। पुरुष द्वारा उस सेब के टुकड़े को खा लेने से, इस प्रथा के अनुसार माना जाता है कि वह पुरुष हमेशा उस युवती के साथ यौन सुख में लिप्त रहेगा।
नेपाल की कुछ जनजातियों में अनेक भाइयों द्वारा एक ही पत्नी को साझा करने का रिवाज
महाभारत याद है, जिसमें द्रौपदी के 5 पति थे। ऐसा ही कुछ नेपाल में रहनेवाले कुछ जनजातियों में देखा जा सकता है, जहां बहुपतित्व का रिवाज है। इसके अनुसार एक ही परिवार के सभी भाई एक ही पत्नी को साझा करते हैं ताकि उनके सीमित खेतों और संपत्तियों के लिए बहुत अधिक बच्चे न हों।
मांगिया में युवा लड़कों के साथ बूढ़ी औरतों के सोने का रिवाज
दक्षिण प्रशांत महासागर में स्थित कुक आइलैंड के दक्षिणी समूह के सुदूर दक्षिण भाग में स्थित मांगिया, न्यूज़ीलैंड के साथ उसके फ्री एसोसिएशन में एक स्वशासित राज्य है। यह द्वीप एक अजीब यौन परंपरा के कारण प्रसिद्ध है, जहां युवा लड़कों का बड़ी उम्र की महिलाओं के साथ यौन संबंध बनाने का रिवाज है। इसके अनुसार बूढ़ी औरतें युवा लड़कों को अपने महिला पार्टनरों को सेक्सुअली खुश और संतुष्ट करने के गुर सिखाती हैं।
प्राचीन ग्रीस में किशोर लड़कों के साथ सेक्सुअल रिलेशन रखते थे पुरुष
प्राचीन ग्रीस में, वयस्क पुरुष, विवाहित और अविवाहित दोनों, अक्सर किशोर लड़कों के साथ यौन संबंध रखते थे। इन संबंधों में बच्चे शामिल नहीं थे, बल्कि यौवन की दहलीज पर कदम रखते, आमतौर पर 15 और 19 की उम्र के बीच के किशोर होते थे।
क्रेउंग जनजाति किशोर लड़कियों के लिए करती है ‘लव हट्स’ का निर्माण
कंबोडिया में क्रेउंग जनजाति अपने समुदाय की किशोर लड़कियों के लिए ‘लव हट्स’ बनाती है। दिलचस्प बात यह है कि इस झोपड़ी में लड़की हर रात विभिन्न लड़कों के साथ लगातार संबंध बनाते हुए रातें बिताती है, जब तक उसे अपने उपयुक्त एक साथी नहीं मिल जाता है, जिसे उसके जीवन का प्यार घोषित किया जाता है।
वोडाबे जनजाति करती है हर साल पत्नी-चोरी त्योहार का आयोजन
पश्चिम अफ्रीका के नाइजर में वोडाबे जनजाति में बच्चों की बचपन में ही शादी कर दी जाती है। हालांकि, यहां प्रत्येक वर्ष मनाए जाने वाले, गेरेवोल महोत्सव में, वोडाबे पुरुष अपनी जनजाति के अनुसार श्रृंगार और वेशभूषा से सुसज्जित होकर शामिल होते हैं और दूसरे व्यक्ति की पत्नी को चुराने की कोशिश करते हैं। यदि चोरी हो जाती है, तो उस पुरुष का संघ मान्यता प्राप्त हो जाता है।
मुरिया जनजाति के किशोर बिना किसी भावनात्मक लगाव के करते हैं सेक्स प्रैक्टिस
छत्तीसगढ़ में रहने वाली मुरिया जनजाति के युवाओं को “घोटुल” नामक मिश्रित-सेक्स डोरमेटरी में रहने के लिए भेजा जाता है, जहां वे करीबी क्वार्टर में रहते हैं और उनसे यौन गतिविधियों में संलग्न होने की उम्मीद की जाती है। कुछ घोटुल में, किशोरों को एक पत्नीक रिश्ते के साथ एक-दूसरे के साथ रखा जाता है, जहां वे अपने सहयोगियों के साथ भावनात्मक रूप से जुड़ने के बजाय स्वतंत्र रूप से सेक्स का आनंद लेते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राज्य में गणतंत्र का घुट रहा है दम : राज्यपाल

शुभेंदु अधिकारी समेत भाजपा विधायक मिले राज्यपाल से सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सोमवार को​ विधानसभा में विपक्षी दल के नेता शुभेंदु अधिकारी समेत भाजपा विधायकों ने राजभवन आगे पढ़ें »

बेड पर सेक्स के दौरान कुछ इस तरह…

कोलकाता : परफेक्ट सेक्स जैसी कोई चीज नहीं होती है। सेक्स के दौरान हम सभी गलतियां करते हैं! कुछ गलतियां पूरी तरह से टाली नहीं जा सकती आगे पढ़ें »

ऊपर