सुखद बुढ़ापे के लिए 10 टिप्स

– सुखद् बुढ़ापे के लिए संतुलित आहार लें। शरीर को फल और सब्जियां उचित मात्रा में मिलती रहें।
– अपने को कब्ज से बचा कर रखें। कब्ज बहुत सी बीमारियों का घर है। इसके लिए ईसबगोल का प्रयोग नियमित करें और यदि माफिक आये तो रात्रि को सोने से पहले एक कप गर्म दूध लें।
– नियमित व्यायाम करें। सुबह शाम पास के पार्क में सैर के लिए निकल जायें किंतु व्यायाम डॉक्टरी सलाह से ही करें।
– मेडिकल चैक-अप नियमित करवायें। नियमित जांच के साथ आवश्यकता पड़ने पर दवाई लेते रहें।
– बच्चों और परिवार के बीच में रहें। शाम का समय बच्चों के साथ बिताएं और परिवार के लिए सहायक बनें।
– छोटी छोटी बातों के लिए टोकाटाकी से बचें जिससे तनाव को कम किया जा सकता है।
– कुछ समय समाजसेवा के लिए निकालें। हमउम्र दोस्तों से मिल कर खुशियां बांटें।
– धूम्रपान शराब और नशे की आदतों से अपने आप को बचा कर रखें। इन आदतों से दूर रहना ही अच्छा है।
– गाड़ी चलाते समय सीट बेल्ट का प्रयोग करें। यदि कोई और गाड़ी चला रहा है तो सीट पर अपना संतुलन बना कर बैठें। गीले स्थानों पर जाने से बचें। बाथरूम में पैर टिका कर चलें क्योंकि वृद्धावस्था में हड्डियां जल्दी टूटती हैं और मुश्किल से जुड़ती हैं।
– जिंदगी के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण बनायें। छोटी मोटी दु:ख तकलीफें जिंदगी का अंग हैं। परिवार से अधिक अपेक्षाएं न रखें। अपेक्षाएं पूरी न होने पर मन खिन्न होता है। वृद्धावस्था जीवन का एक महत्त्वपूर्ण हिस्सा है। इसे हंस कर स्वीकार करें और खुशीपूर्वक भगवान की देन को स्वीकारें।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बाहरियों से बचाना है बंगाल की संस्कृति को : फिरहाद

उत्तर बैरकपुर में नवनिर्मित कन्वेंशन सेंटर का हुआ उद्घाटन बैरकपुर : तथाकथित बड़े नेता बंगाल के जिलों व शहरों में चक्कर लगा रहे हैं और यहां आगे पढ़ें »

एकजुट होकर करें काम, दिल्ली ने दी भाजपा के बड़े नेताओं को चेतावनी

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : विधानसभा चुनाव करीब है और ऐसे समय में अलग - अलग होकर प्रदर्शन अथवा किसी अन्य तरह का काम करना नहीं चलेगा। आगे पढ़ें »

ऊपर