सियासत से खफा लग रहे गुप्तेश्वर:’सफल राजनेता बनने की क्षमता नहीं’

पटनाः कहते हैं कि पुलिस वाले बड़े जीवट होते हैं। हर परिस्थिति से निपटने में माहिर। लेकिन नेतागिरी? इसके लिए थोड़ा डिफरेंट टाइप का कलेजा चाहिए। डीजीपी की वर्दी उतार नेता बने गुप्तेश्वर पांडेय ने अब इसका खुलासा किया है। पूर्व डीजीपी ने खुलकर कहा कि वे राजनीति में फेल हो गए। कारण पूछने पर कहा- नेताओं के जैसा बड़ा नहीं है मेरा कलेजा इसलिए फेल हो गया। पॉलिटिक्स में जितनी बुद्धि, अनुभव, त्याग, धैर्य और तपस्या की जरूरत है वह शायद मुझ में नहीं है। नेताओं का कलेजा बहुत बड़ा होता है। पांडेय ने कहा कि अब ईश्वर को छोड़कर किसी दूसरी चीज में मेरा मन नहीं लगता।

पॉलिटिक्स में जितनी बुद्धि, अनुभव, त्याग, धैर्य और तपस्या की जरूरत है वह शायद मुझमें नहीं

पांडेय ने पिछले साल विधानसभा चुनाव के पहले बिहार के डीजीपी के पद से वीआरएस ले लिया था। वे चुनाव लड़ना चाहते थे। लिहाजा विधिवत जदयू के सदस्य भी बने। उनकी इच्छा थी कि वे बक्सर से विधायक का चुनाव लड़ें। तैयारी भी कर रहे थे, लेकिन ऐन वक्त पर टिकट नहीं मिल पाया। उसके बाद से ही उनका राजनीति से मोह भंग होने लगा था। चुपचाप रहे। किसी से कोई शिकायत नहीं की। धीरे-धीरे ईश्वर की राह पकड़ी और अध्यात्म में रम गए। पांडेय इन दिनों अयोध्या में कथा वाचन कर रहे हैं। इस नए अवतार की खबर बाहर आई तो वह भी सामने आए।

डीजीपी का पद छोड़कर राजनीति और फिर राजनीति छोड़कर आध्यात्मिक जीवन में प्रवेश के पीछे का कारण भी उन्होंने जाहिर किया। शनिवार को बातचीत में बड़ी बेबाकी से अपनी बात रखी। कहा- राजनीति में वे सफल नहीं हो पाए। शायद राजनीति के लिए जो योग्यताएं चाहिए वे उनमें नहीं हैं तभी तो फेल हो गया।

पांडेय ने कहा कि राजनीति करना इतना आसान काम नहीं है। हर आदमी चाहता है कि वह विधायक और मंत्री बने लेकिन नेता बनने के लिए बहुत गुण और ऊंची योग्यता चाहिए। यह भी स्पष्ट किया कि उनके फेल होने के पीछे किसी का कोई दोष या हाथ नहीं है। उन्होंने कहा कि मेरा भरोसा सिर्फ ईश्वर पर है।

गायक और एक्टर के तौर पर भी दिखे

गुप्तेश्वर पांडे का इस तरह का यह पहला रूप नहीं है। इससे पहले वो गायक के रूप में भी दिख चुके हैं। भगवान भोलेनाथ पर इनका एल्बम भी आ चुका है और उसमें एक्टिंग भी कर चुके हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

ऐसे लगाये पोंछा घर में होगी पैसों की बारिश

कोलकाता : घर में साफ-सफाई करने के लिए हर घर में झाड़ू-पोंछे का इस्तेमाल किया जाता है। यह दोनों ही चीजें घर में प्रवेश करने आगे पढ़ें »

ऊपर