साइको किलर : 19 की उम्र से अब तक किए 7 खून, शवों को दफनाने के बाद करता था यह…

Husband murdered wife

मैनपुरी : मैनपुरी जनपद के किशनी में महिला की हत्या के आरोप में पुलिस ने एक ऐसे व्यक्ति को पकड़ा है, जिसकी कहानी सुनकर अच्छे-अच्छों के रोंगटे खड़े हो जाएंगे। आरोपी का नाम सर्वेश यादव है। पुलिस के अनुसार वह एक साइको किलर है। वह अब तक अपनी मां सहित 7 लोगों की हत्या कर चुका है। उसने सबसे पहले हत्या 19 वर्ष की उम्र में की थी। हत्या करने के बाद वह शवों को दफनाकर, उस जगह पौधा लगा दिया करता था।

एसपी अजय कुमार पांडेय ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि 10 अक्टूबर की रात गांव बरुआ नद्दी के पास एक नरमुंड मिला था। घटना की जांच में जुटी पुलिस को सर्वेश पर शक हुआ। संदेह के आधार पर उससे पूछताछ के दौरान इस मामले का खुलासा हुआ।

लालच देकर महिलाओं को बनाता था शिकार

पुलिस के मुताबिक गांव बरुआ नद्दी निवासी सर्वेश यादव सनकी किस्म का है। 19 साल की उम्र में वह गुजरात से एक लड़की को लेकर आया था। उसकी हत्या करने के बाद शव के टुकड़े करने के बाद दफना दिया था। सर्वेश ने वर्ष 2012 में जिला कन्नौज के सौरिख थाना क्षेत्र में एक महिला की दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी थी। पुलिस के अनुसार वह भोलीभाली महिलाओं को सरकारी आवास, पेंशन, रुपये आदि दिलाने का लालच देकर जाल में फंसाता था। उनके जेवर आदि लेकर हत्या कर देता था।

मां को जलाकर मार डाला

सर्वेश पर तीन हत्याओं सहित 11 आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें कन्नौज के सौरिख थाने में सात और किशनी थाने में चार मुकदमे दर्ज हैं। 26 महीने बाद मार्च 2020 में वह जेल से छूटकर घर आया था। वह मामलों में तारीख पर भी नहीं जाता है। इस वजह से उसके खिलाफ कई गैर जमानती वारंट जारी हो चुके हैं। तीन मई, 2020 को उसने अपनी मां की जलाकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। उसके सनकीपन की वजह से उसकी पत्नी, बच्चे और परिवार के दूसरे सदस्यों ने भी उससे सभी रिश्ते तोड़ लिए थे। गांव वालों में उसे लेकर इस कदर खौफ था कि शाम ढलते ही महिलाएं अपने घरों में कैद हो जाती थीं।

अपनी खेत में दफनाता था शव

पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद सर्वेश यादव ने कई हत्याएं करने की बात कबूली है। हत्या करने के बाद शव टुकड़ों में जमीन में दफनाने की बात भी स्वीकार की है। पुलिस अब जेसीबी से उसके खेत की खुदाई कराएगी। खुदाई के बाद कई और राज बाहर आएंगे। वहीं उसकी गिरफ्तारी से गांव के लोग राहत महसूस कर रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि उन्हें परिवार व बच्चों की हर समय फिक्र रहती थी। सर्वेश के जेल जाने के बाद अब सभी लोग राहत महसूस कर रहे हैं। उनका कहना है कि ऐसे अपराधी को फांसी की सजा भी कम है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पहले टी-20 में भारत 11 रन से जीता

कैनबराः भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 3 टी-20 की सीरीज के पहले मैच में 11 रन से हरा दिया। टीम इंडिया पिछले 10 टी-20 मैच से आगे पढ़ें »

भारत में न्यूनतम मजदूरी पड़ोसी देशों से भी कम

नई दिल्ली : इंटरनेशनल लेबर आर्गनाइजेशन (आईएलओ) की नई रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भारत के मजदूरों पर कोरोना माहामारी और लॉकडाउन की आगे पढ़ें »

ऊपर