संतान के लिए देवर के साथ संबंध बनाने का दबाव, व‍िवाह‍िता ने किया मना तो प्राइवेट पार्ट…

बाड़मेर : 6 सालों तक एक व‍िवाह‍िता के संतान नहीं हुई तो ससुराल वालों ने देवर के साथ संबंध बनाने को मजबूर क‍िया। व‍िवाहिता ने आरोप लगाया है क‍ि जब उसने बात नहीं मानी तो प्राइवेट पार्ट में चाकू डाल द‍िया। समाज को शर्मसार कर देने वाली यह घटना राजस्थान के बाड़मेर ज‍िले की है।

राजस्थान में आज भी ग्रामीण इलाकों में महिलाओं को संतान ना होने पर प्रताड़ित किया जाता है और यहां तक कि दूसरे के साथ संबंध बनाने का भी दबाव डाला जाता है। ऐसा एक सनसनीखेज मामला राजस्थान के बाड़मेर जिले के चौहटन इलाके में सामने आया है जिसमें विवाहिता ने एसपी को अपनी दुखभरी बात बताई।

पीड़िता की रिपोर्ट के अनुसार, 6 साल पहले शादी हुई थी। उसके बाद से ही ससुराल के लोग दहेज के लिए परेशान करते थे। फिर जब तीन-चार साल निकल गए और बच्चा नहीं हुआ तो प्रताड़ित करना शुरू कर दिया।

कई बार वे मारपीट करते थे। इस बारे में कई बार सामाजिक स्तर पर बातचीत की गई लेक‍िन कोई नतीजा नहीं न‍िकला तो वह मायके चली गई लेक‍िन फ‍िर ससुराल आ गई। ससुराल में फ‍िर जुल्मों का दौर शुरू हुआ।

पीड़‍िता ने बताया क‍ि एक दिन पहले ही रात के समय में वह कमरे में सो रही थी, तभी देवर ने रेप का प्रयास किया। इतना ही नहीं उसके प्राइवेट पार्ट में चाकू डाल दिया।

किसी तरीके से वह वहां से भाग कर अपने भाई के पास पहुंची। उसे चौहटन पुलिस पर भरोसा नहीं है, इसीलिए उसने बुधवार को अपनी दास्तान पुलिस अधीक्षक को सुनाई।

पीड़िता से मुलाकात के बाद पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा का कहना है कि मामले की गंभीरता को देखते हुए हमने महिला थाने में मामला दर्ज करने के आदेश दिए हैं। साथ ही मेडिकल करवाने के आदेश दिए। जल्द ही इस मामले में आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।

लेकिन सबसे बड़ा सवाल है कि महिलाओं के खिलाफ अपराध पर लगाम कब लगेगा। महिलाओं पर तरह-तरह के जुल्म क‍िए जाते हैं। अब देखने वाली बात होगी कि पुलिस इस मामले में कब पीड़िता को न्याय दिलाती है। 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

सामाजिक सम्मान नष्ट हो रहा है लेकिन धैर्य रखें : फिरहाद

कर्मियों को मेयर की सलाह, विपक्ष को जवाब सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोलकाता नगर निगम के मेयर फिरहाद हकीम ने अपने पार्टी के नेताओं की गिरफ्तारी पर आगे पढ़ें »

ऊपर