धनबाद के शुभम को गूगल ने‌ दिया 1 करोड़ का पैकेज का ऑफर

धनबाद : धनबाद के रहने वाले शुभम शेखर ने अपनी मेहनत के बल पर ना सिर्फ एक नयी उपलब्धि हासिल ‌की है, बल्कि अपने देश और राज्य का भी नाम रौशन किया है। उन्हें नेशनल ज्योग्राफिक के तरफ से 1.72 करोड़ रुपए सालाना पे पैकेज ऑफर किया है। इतना ही नही सालाना पैकेज के अलावा शुभम को पर्क्स और इंसेंटिव भी दिया जाएगा। सितंबर में डीयू के विभिन्न कॉलेजों से 500 छात्र-छात्राओं ने नेशनल ज्योग्राफी के ओपेन कैंपस सेलेक्शन टेस्ट में हिस्सा लिया। शुभम ने भी ओपेन सेलेक्‍शन टेस्ट में भाग लिया। स्टीफन कॉलेज में हुए टेस्ट में से 150 छात्र-छात्राओं ने साक्षात्कार के लिए क्वालीफाई किया। जिसमें से शुभम ने भी बाजी मारी। शुभम ने बताया कि मेरा सपना पूरा हुआ, क्योंकि मैं बचपन से पशु प्रेमी रहा हूं। इसलिए मैंने जूलॉजी ऑनर्स में एडमिशन लिया।

ट्रिप डेवलपमेंट एग्जीक्यूटिव का पद का मिला ऑफर
नेशनल ज्योग्राफिक ने शुभम को ट्रिप डेवलपमेंट एग्जीक्यूटिव का पद के लिए चयनित किया है। शुभम की नियुक्ति एक अक्टूबर 2019 को ग्रीस के एथेंस में होना है। शुभम दिल्ली यूनिवर्सिटी के शिवाजी कॉलेज में बीएससी ऑनर्स जूलॉजी अंतिम वर्ष के छात्र हैं। इन्होंने पिछले महीने इसके लिए टेस्ट और साक्षात्कार दिया था। नेशनल ज्योग्राफी सोसाइटी बोर्ड ऑफ ट्रस्टी के चेयरमैन जीएन केस ने ऑफर लेटर जारी किया है। शुभम की सफलता पर परिवार समेत पूरे शहर में जश्न का माहौल है। शुभम के पिता सुधांशु शेखर डीआरएम कार्यालय धनबाद और मां वीणा मिश्रा गृहणी हैं। सुधांशु शेखर बेतिया के आनंद नगर के निवासी हैं। वर्तमान में धनबाद के चीरागोड़ा मुहल्ले में रहते हैं। शुभम शुरू से ही पढ़ाई में होनहार रहा है और डीएवी कोयला नगर से उसने 10वीं में 10 सीजीपीए और 12वीं में 94.4 प्रतिशत अंक प्राप्त किया था। इसके बाद डीयू के शिवाजी कॉलेज में बीएससी जूलॉजी ऑनर्स में नामांकन लिया। सितंबर में डीयू के विभिन्न कॉलेजों से 500 छात्र-छात्राओं ने नेशनल ज्योग्राफी के ओपेन कैंपस सेलेक्शन के टेस्ट में हिस्सा लिया। स्टीफन कॉलेज में हुए टेस्ट में से 150 छात्र-छात्राओं ने साक्षात्कार के लिए क्वालीफाई किया। जिसमें से शुभम ने भी बाजी मारी उन्होंने बताया कि मेरा सपना पूरा हुआ, क्योंकि मैं बचपन से पशु प्रेमी रहा हूं। इसलिए मैंने जूलॉजी ऑनर्स में एडमिशन लिया। मेरे परिवार और विशेषकर मेरे पिता का मुझे हमेशा से पूरा सहयोग मिला है। इस कारण सफलता का श्रेय परिजनों में विशेषकर पापा को जाता है।

एक करोड़ रुपये का मिला पैकेज
शुभम ने बताया कि-साक्षात्कार में ब्लैक वेल से लेकर नेचुरल वर्ल्ड समेत अन्य संबंधित प्रश्न पूछे गए थे। इतने बड़े पे पैकेज को लेकर उन्होंने कहा कि- टेस्ट से इंटरव्यू में क्वालीफाई करने के दौरान मुझे यह पता चल गया था कि मैं सक्सेस हो गया हूं, तो कम से कम तो एक करोड़ प्लस का पैकेज मिलेगा, लेकिन 1.72 करोड़ का पे पैकेज मिलेगा, यह नहीं सोचा था। साक्षात्कार के बाद जब मुझे अलग से बुलाया गया तो मुझे लगा कि मैं पास हो गया। परिणाम निकलने के बाद नौकरी पाने वाले पांच छात्रों में मैं भी शामिल था। शुभम ने सबसे पहले इसकी सूचना घरवालों को दी। शुरूआत में मां को मेरे विदेश में नौकरी करने पर एतराज था, लेकिन समझाने पर वह मान गईं। उनकी एक बड़ी बहन है जो बैंकिंग की तैयारी कर रही है और छोटा भाई डीएवी कोयला नगर में 12वीं की पढ़ाई कर रहा है।

दिया मंत्र- तनाव हो तो करें ध्यान
शुभम ने अपने अब तक के अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि छात्र-छात्राओं को यदि पढ़ाई या किसी चीज को लेकर तनाव हो, तो ध्यान करें। और ध्यान करने से निश्चित ही तनाव से निजात मिलता है। शुभम ने बताया कि उनकी शौक स्टडी करना है। बेटे कि उप्लब्धि पर पिता सुधांशु शेखर का कहना है कि- बेटे की उपलब्धि पर पूरा परिवार गौरवान्वित है, उम्मीद है कि आगे और अच्छा करेगा। उन्होंने बताया कि सबसे अधिक दादी सावित्री मिश्रा को गर्व है। शुभम की सफलता पर डीएवी कोयला नगर के प्राचार्य सह डीएवी धनबाद जोन के सहायक क्षेत्रीय अधिकारी एके पांडेय ने कहा कि शुभम ने धनबाद का नाम रौशन किया है। शुरूआत से ही डीएवी कोयला नगर में पढ़ाई की। 1.72 करोड़ रुपए का पे पैकेज हासिल कर धनबाद और झारखंड का मान बढ़ाया है। स्कूल के लिए बड़ी उपलब्धि है। शिक्षक पवन कुमार पांडेय ने भी शुभम को बधाई दी।




शेयर करें

मुख्य समाचार

cricket

भारत ने दक्षिण अफ्रीका को पारी और 202 रन से हराया, 3-0 से किया क्लीनस्वीप

रांची : रांची के जेएससीए स्टेडियम में खेले गए तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में मंगलवार को भारत ने शानदार आलराउंड प्रदर्शन के दम पर आगे पढ़ें »

dhankhad

बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ बोले, ‘मैं राज्य सरकार के अधीन नहीं’

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में राज्य सरकार तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और राज्यपाल जगदीप धनखड़ के बीच जारी तनातनी बढ़ती जा रही है। दरअसल इस विवाद आगे पढ़ें »

ऊपर