वामदलों ने सीएए-एनआरसी के विरोध में पटना में बनाई मानव शृंखला

पटना : बिहार में सीएए, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में शनिवार को वामदलों ने मानव शृंखला बनाई।
वामदलों के आह्वान पर पटना समेत राज्य के अन्य जिला मुख्यालयों में भी मानव शृंखला बनाई गयी। राजधानी पटना के स्थानीय बुद्ध पार्क से ऐतिहासिक गांधी मैदान तक शृंखला का निर्माण किया गया, जिसमें बड़ी संख्या में मजदूरों और महिलाओं के साथ समाज के अन्य वर्गों ने भी बढ़-चढ़कर भाग लिया। इस शृंखला में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी पोलित ब्यूरो की सदस्य सुभाषिनी अली, राज्य सचिव मंडल के सदस्य अरुण कुमार मिश्र, सर्वोदय शर्मा, भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी-लेनिनवादी) के राष्ट्रीय महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य, भाकपा (माले) के राज्य सचिव कुणाल, भाकपा के राज्य सचिव सत्यनारायण सिंह, रामलला सिंह के अलावा महागठबंधन के घटक हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के नेता भी बड़ी संख्या में शामिल हुए। इस मौके पर वामदल के नेताओं ने कहा, ‘आज जब देश के संविधान एवं नागरिकता पर खतरा है तो हमें मजबूती से इसकी रक्षा के लिए सड़कों पर आंदोलन करना होगा। बिहार के लगभग 56,000 मजदूरों की नागरिकता असम में समाप्त होने के कगार पर है लेकिन प्रदेश की नीतीश सरकार इस पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।’ नेताओं ने बिहार सरकार से मांग की कि सभी लोगों की नागरिकता की रक्षा की गारंटी दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा के आगामी सत्र में केरल की तर्ज पर सीएए, एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ प्रस्ताव लाया जाना चाहिए। इसके साथ ही बहुजन क्रांति मोर्चा की ओर से 29 जनवरी को भारत बंद का समर्थन करने की घोषणा की गयी। वहीं, मांगों के समर्थन में 30 जनवरी को सभी जिला मुख्यालयों के समक्ष धरना दिए जाने की भी घोषणा की गयी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कल्याणकारी योजना का लाभ दिए जाने में हुई गड़बड़ी शीघ्र होगी दूर : सीता सोरेन

दुमका : झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) की वरिष्ठ नेता और दुमका जिले में जामा की विधायक सीता सोरेन ने कहा कि पूर्व में अयोग्य लोगों आगे पढ़ें »

नक्सलियों को 15 लाख की लेवी देने जा रहा ठेकेदार गिरफ्तार

औरंगाबाद : बिहार में नक्सल प्रभावित औरंगाबाद जिले के अम्बावार तरी के निकट एक संदिग्ध वाहन से 15 लाख रुपये जब्त कर संवेदक समेत दो आगे पढ़ें »

ऊपर