रेणु के कालजयी उपन्यास ‘मैला आंचल’ की मूल प्रति चोरी

‘परती परिकथा’ और अधूरे उपन्यास ‘कागज की नाव’ की मूल प्रतियां भी ले गये चोर
पटना : हिन्दी उपन्यास साहित्य में आंचलिक धारा के प्रवर्तक फणीश्वरनाथ रेणु की कालजयी रचना ‘मैला आंचल’ की मूल प्रति मंगलवार की रात चोरी हो गयी। स्व. रेणु के पुत्र और पूर्व विधायक पद्म पराग रेणु के पटना में कदमकुआं थाना क्षेत्र के राजेंद्र नगर स्थित आवास से रात को चोरों ने घर का दरवाजा तोड़कर स्व.रेणु क कालजयी रचना ‘मैला आंचल’  और उनकी महत्वपूर्ण कृति ‘परती परिकथा’ की मूल प्रति चोरी कर ली। चोरों ने उनके अधूरे उपन्यास ‘कागज की नाव’ समेत 10 से 12 पुस्तकें चोरी कर ली। इस संबंध में कदमकुआं थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गयी है।
पुलिस ने मामले की तहकीकात शुरू कर दी है लेकिन इस सिलसिले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। मालूम हो कि मैला आंचल उपन्यास पर ‘डागडर बाबू’ नाम से नवेंदु घोष ने फिल्म का निर्माण शुरू किया था लेकिन इसी दौरान रेणु का निधन हो जाने से यह फिल्म अधूरी ही रह गयी। हालांकि इसी उपन्यास पर बने धारावाहिक का प्रसारण दूरदर्शन पर किया गया था। इस उपन्यास का अंग्रेजी, रूसी और मराठी भाषा में अनुवाद हो चुका है। रेणु को हिंदी साहित्य में विशिष्ट योगदान के लिए वर्ष 1970 में पद्मश्री सम्मान मिला था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

उत्तर प्रदेश के गांवों में अनाज भंडारण के लिए बनेंगे 5000 गोदाम

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार किसानों को फसल सुरक्षित रखने और उसकी अच्छी कीमत दिलाने के लिये गांवों में 5000 भण्डारण गोदाम आगे पढ़ें »

गांजे की खेती वाले कमेंट पर भड़कीं कंगना रनौत, उद्धव ठाकरे पर किया पलटवार

  मुंबई: बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के गांजे की खेता वाले कमेंट पर पलटवार करते हुए कहा कि जनसेवक होकर आप इस तरह आगे पढ़ें »

ऊपर