मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांडः 8 लड़कियों को उनके परिजनों के हवाले करने का आदेश

नई दिल्लीः बिहार के मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में अब सुप्रीम कोर्ट ने नया फैसला सुनाया है। कोर्ट ने पीड़ित लड़कियों में से 8 को उनके माता-पिता के सुपुर्द करने का आदेश दिया है।

रिपोर्ट के अनुसार कुल 44 लड़कियों में से 28 के बारे में टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल स्टडीज ने अपनी विस्तृत रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को सौंपी थी। 8 लड़कियों के बारे में टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल स्टडीज की रिपोर्ट पर कोर्ट ने सहमति की मुहर लगाई है। कोर्ट ने राज्य सरकार को पीड़ित लड़कियों को कानून के मुताबिक मुआवजा अदा करने को लेकर रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है। कोर्ट ने राज्य सरकार से स्टेटस रिपोर्ट भी तलब की है।

पिछले साल आया था मामला प्रकाश में
28 जुलाई 2018 को मुजफ्फरपुर बालिका आश्रय गृह रेप कांड में 42 में से 34 बच्चियों से रेप की पुष्टि हुई थी। बाद में केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने सुप्रीम कोर्ट में सनसनीखेज खुलासा करते हुए कहा कि मुजफ्फरपुर आश्रय गृह यौन उत्पीड़न मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर और उसके सहयोगियों ने 11 लड़कियों की कथित रूप से हत्या की थी और एक श्मशान घाट से ‘‘हड्डियों की पोटली” बरामद हुई है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोगों में पीओके की आजादी के लिये ‘जुनून’ है : ठाकुर

जम्मू : केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने के बाद पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर आगे पढ़ें »

पिछले पांच-छह साल में बढ़े हैं दलितों पर अत्याचार : प्रशांत भूषण

नयी दिल्ली : भीम आर्मी द्वारा आयोजित संवाददाता सम्मेलन में सामाजिक कार्यकर्ता व वकील प्रशांत भूषण ने सोमवार को आरोप लगाया कि पिछले पांच-छह साल आगे पढ़ें »

ऊपर