मास्क पहन दूल्हा-दुल्हन ने की शादी, कोरोना वायरस को दिखाया ढेंगा

जोधपुर : कोरोना वायरस संक्रमण से जहां देशभर में महामारी की वजह से 21 दिन का लॉकडाउन है। वहीं जोधपुर में एक जोड़े ने कोरोना वायरस को ढेंगा दिखाते हुए मास्क पहनक शादी कर ली। मामला राजस्थान के जोधपुर शहर का है
यहां दूल्हा सोशल डिस्ट्रेसिंग का पालन करते हुए गाड़ी में अपने दो रिश्तेदारों को लेकर शादी वाले भवन पहुंच गया। शादी रविवार देर रात बिना गाजे बाजे व भीड़-भाड़ के सरकार के जारी निर्देश का पालन करते हुए हुई। लड़की वालों ने भी सरकारी निर्देश का पालन करते हुए नाम मात्र के रिश्तेदारों को शादी में बुलाया था। बताया जा रहा है कि दुल्हन की विदाई को लॉकडाउन के खत्म होने के बाद दोनों बहन के साथ किया बड़ी धूमधाम से करने की मनसा के तहत रोक दिया गया है।
दो बेटी की टाली शादी
दुल्हन के पिता ने बताया कि मेरा मन था कि मैं तीनों बेटियों की शादी एक साथ बड़े धूमधाम से करूं पर कोरोना वायरस की वजह से देश में लागू लॉकडाउन के कारण तीनों बेटियों की शादी टाली जा रही थी पर दो लड़के वाले तो तैयार हो गए पर एक लड़की के ससूराल वालों ने सामाजिक मान्यता का हवाला देकर शादी नहीं टालने की बात कही। हालांकि विदाई हमने रोक दी है जो हम लॉकडाउन के बाद करेंगे। दुल्हन के पिता लिखमाराम भादू ने बताया की हमनें तीन बेटियों की शादी की तारिख 29 मार्च को निकाली थी।
इस मान्यता की वजह से करनी पड़ी शादी
बताया जा रहा है कि लड़के वालों में घी पिला एक रस्म होती है जो पूरी हो जाने के बाद में शादी की तय दिन में करनी होती है। परिवार वालों ने बताया कि घी पिला राजस्थान का एक स्थानीय रस्म है। मान्यता के तहत घी पिला की रस्म शुरू होने के बाद विवाह की तारीख नहीं टाली जा सकती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

केशपुर में वोट लूटे नहीं जाते तो भाजपा की जीत होतीः शुभेंदु

मिदनापुर: एक समय तृणमूल के हेवीवेट नेता माने जाने वाले राज्य के मंत्री रहे शुभेंदु अधिकारी तृणमूल से नाता तोड़ने के बाद भाजपा के होकर आगे पढ़ें »

voter card

तनिक भी मिली लापरवाही तो गिरेगी गाजः चुनाव आयोग

कानून व्यवस्था की रिपोर्ट से असंतुष्ट कहा नहीं मानी आयोग की बात तो कड़ी कार्रवाई सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः चुनाव आयोग ने राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति को आगे पढ़ें »

ऊपर