महिलाओं को मेट्रो और डीटीसी बसों में नहीं देना होगा किराया

नई दिल्ली : देश की राजधानी दिल्ली में महिलाएं जल्‍द ही मेट्रो और दिल्ली पथ परिवहन निगम (डीटीसी) की बसों में निःशुल्क यात्रा कर सकेंगी। ऐसा इसलिए होगा क्योंकि वहां के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को इस बड़ी योजना का ऐलान किया है। केजरीवाल ने कहा है कि “इसी महीने से नई बसें आनी चालू हो जाएंगी। इस महीने 25 से 30 बसें आ जाएंगी। अगले 12 महीने के अंदर 3 हजार के आसपास बसें दिल्ली में आ जाएंगी।”

सारा खर्च दिल्ली सरकार ही उठाएगी

केजरीवाल ने कि “सभी बसों में कैमरे होंगे। महिलाओं को फ्री में सफर कराने का प्रावधान दो-तीन महीने में लागू हो जाएगा। मेट्रो से कहा गया है कि वे एक हफ्ते के दौरान इसका प्लान सौंपे।” उन्होंने कहा कि “केंद्र सरकार से हमें बात करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि हम किराया नहीं बढ़ा रहे। हम सब्सिडी दे रहे हैं। इस योजना पर करीब 700-800 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। यह सारा खर्च दिल्ली सरकार ही उठाएगी।”

सक्षम महिलाएं सब्सिडी छोड़ दें

केजरीवाल ने आर्थिक रूप से सक्षम महिलाओं से सब्सिडी छोड़ने की अपील करते हुए कहा  कि “यह योजना किसी एक के लिए नहीं, बल्कि सभी महिलाओं के लिए है। वे महिलाएं जो यात्रा करने के लिए टिकट खरीदने में सक्षम हैं, वे इस सब्सिडी (मुफ्त यात्रा) को छोड़ दें। सक्षम लोग यदि टिकट खरीदेंगे और सब्सिडी छोड़ देंगे तो इससे उनको मदद मिलेगी, जो टिकट खरीदने में असमर्थ हैं।”

वोट खरीदने की नाकाम कोशिश कर रहे हैं
केजरीवाल ने इधर महिलाओं को मेट्रो और डीटीसी बसों में निःशुल्क यात्रा की सौगात दी तो उधर दिल्ली भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी उन्हें निशाने पर ‌लेते हुए कहा वोट खरीदने का आरोप लगा दिया। तिवारी ने कहा कि “अरविंद केजरीवाल वोट खरीदने की नाकाम कोशिश कर रहे हैं। ऐसा ही राहुल गांधी जी ने किया था। आपने लगभग 21 साल से दिल्ली की सरकार से भाजपा को बाहर रखा है। मगर दिल्ली बीजेपी एक ही लाइन पर खड़ी है। एक पांच साल सारे नाकाम पंथी, साजिश करने वाले लोगों को हटाकर बीजेपी को देने की आवश्यकता है।”

केजरीवाल अभिशाप बन गए

तिवारी ने कहा कि “आपने देश में नरेंद्र मोदी को स्थापित कर ही दिया है। 2014 में भी स्थापित किया था। तब आपकी आशा देश में मोदीजी से थी। दिल्ली में अरविंद केजरीवाल से भी थी। मगर इन पांच सालों में मोदी देश के विश्वास बन गए और केजरीवाल अभिशाप बन गए। बस अंतर इतना ही है।”

बता दें कि इस बार के लोकसभा चुनाव में अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी एक भी सीट पर नहीं जीत पाई। चुनाव में मिली हार के बाद दिल्ली सरकार का यह ऐलान विपक्षी पार्टी भाजपा को नागवार गुजरा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

rajeev-kumar

राजीव पर शिकंजा कसने आ रहे हैं ‘स्पेशल 12’

सप्ताह भर के अंदर कार्रवाई होगी पूरी : सीबीआई सूत्र अलीपुर कोर्ट में कैविएट दायर किया राजीव कुमार ने सीबीआई जारी करा सकती है वारंट सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : आगे पढ़ें »

मोदी से मिलीं ममता, बंगाल से जुड़े मसले पर हुई चर्चा

पीएम को बंगाल आने का दिया न्योता राज्य के नामकरण को लेकर हुई चर्चा एनआरसी के मुद्दे पर नहीं हुई बात सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता/नई दिल्ली : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आगे पढ़ें »

ऊपर