मनोवैज्ञानिक मामलों के लिए परामर्श केंद्र स्थापित करने पर विचार करे सरकार : हाई कोर्ट

Delhi High court

नई दिल्ली : दिल्ली उच्च न्यायालय ने दिल्ली सरकार से कोविड-19 महामारी से संबंधित मनोवैज्ञानिक मामलों से निपटने के लिए कुछ जिलों में तत्काल आधार पर परामर्श केंद्र स्थापित करने की जरूरत पर विचार करने को कहा। साथ ही महामारी के कारण उपजे मनोवैज्ञानिक कारकों के चलते आत्महत्या और तनाव के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर याचिका दायर कर यह मांग की गई थी।
24 घंटे सेवा देने को कहा
अदालत ने पाया कि कोविड-19 के मद्देनजर वर्तमान हालात में मनोवैज्ञानिक मामलों से निपटने के लिए दिल्ली के निवासियों को परामर्श की आवश्यकता है और आम आदमी पार्टी सरकार से परामर्श मुहैया कराने के लिए 24 घंटे सेवा देने वाला टोल-फ्री नंबर उपलब्ध कराने पर विचार करने को कहा।
वीडियो कांफ्रेंस के जरिए हुई सुनवाई
मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायाधीश प्रतीक जालान की पीठ ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए हुई सुनवाई में वकील एवं याचिकाकर्ता सुनील कुमार की इस बाबत मांग करने वाली याचिका पर यह आदेश पारित किया। पीठ ने यह आदेश शुक्रवार को जारी किया जो शनिवार को उपलब्ध हुआ।

शेयर करें

मुख्य समाचार

5 फरवरी से भाजपा की रथ यात्रा, नड्डा करेंगे शुरुआत

फरवरी में शाह व नड्डा बंगाल में सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : आगामी 5 फरवरी से भाजपा पश्चिम बंगाल में अपनी रथ यात्रा की शुरुआत करने जा रही आगे पढ़ें »

धुपगुड़ी हादसा : केंद्र 2 तो राज्य देगा 2.5 लाख रुपये आर्थिक सहायता

राज्य सरकार की ओर से दी दिये जाएंगे 2.5 लाख रुपये सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : जलपाईगुड़ी के धुपगुड़ी में हुए दर्दनाक हादसे में 14 लोगों की मौत आगे पढ़ें »

ऊपर