मनोवैज्ञानिक मामलों के लिए परामर्श केंद्र स्थापित करने पर विचार करे सरकार : हाई कोर्ट

Delhi High court

नई दिल्ली : दिल्ली उच्च न्यायालय ने दिल्ली सरकार से कोविड-19 महामारी से संबंधित मनोवैज्ञानिक मामलों से निपटने के लिए कुछ जिलों में तत्काल आधार पर परामर्श केंद्र स्थापित करने की जरूरत पर विचार करने को कहा। साथ ही महामारी के कारण उपजे मनोवैज्ञानिक कारकों के चलते आत्महत्या और तनाव के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर याचिका दायर कर यह मांग की गई थी।
24 घंटे सेवा देने को कहा
अदालत ने पाया कि कोविड-19 के मद्देनजर वर्तमान हालात में मनोवैज्ञानिक मामलों से निपटने के लिए दिल्ली के निवासियों को परामर्श की आवश्यकता है और आम आदमी पार्टी सरकार से परामर्श मुहैया कराने के लिए 24 घंटे सेवा देने वाला टोल-फ्री नंबर उपलब्ध कराने पर विचार करने को कहा।
वीडियो कांफ्रेंस के जरिए हुई सुनवाई
मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायाधीश प्रतीक जालान की पीठ ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए हुई सुनवाई में वकील एवं याचिकाकर्ता सुनील कुमार की इस बाबत मांग करने वाली याचिका पर यह आदेश पारित किया। पीठ ने यह आदेश शुक्रवार को जारी किया जो शनिवार को उपलब्ध हुआ।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में आज आए अभी तक के सबसे अ​धिक मामले व हुई सबसे अधिक मौत

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 669 नये मामले है आए है आगे पढ़ें »

जूनियर खिलाड़ियों के लिए टॉप्स योजना शुरू करेगा खेल मंत्रालय : रीजिजू

नयी दिल्ली : खेल मंत्री किरेन रीजिजू ने शुक्रवार को कहा कि उनकी सरकार जल्द ही 2028 तक ओलंपिक चैंपियन बनाने के उद्देश्य से देश आगे पढ़ें »

ऊपर