‘भीमा-कोरेगांव’ सालगिरह पर हिंसा, एक की मौत पर विरोध प्रदर्शन

पुणेः पुणे जिले में भीमा-कोरेगांव की लड़ाई की 200वीं सालगिरह पर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान सोमवार को हुई हिंसा में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। इसके बाद मंगलवार को इसे लेकर मुंबई के कई इलाकों में विरोध प्रदर्शन हुआ। रिपोर्ट के मुताबिक, मुंबई के उपनगरों थाणे, चेंबूर, मुलुंद में लोगों ने सड़क पर उतरकर जमकर प्रदर्शन किया।  कई इलाकों में ऑफिस, स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए गए।
‘ब्रिटिश जीत’ का जश्न मनाए जाने का विरोध
दरअसल, भीमा-कोरेगांव की लड़ाई में ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना ने पेशवा की सेना को हराया था। दलित नेता इस ब्रिटिश जीत का जश्न मनाते हैं। ऐसा समझा जाता है कि तब अछूत समझे जाने वाले महार समुदाय के सैनिक ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना की ओर से लड़े थे। हालांकि, पुणे में कुछ दक्षिणपंथी समूहों ने इस ‘ब्रिटिश जीत’ का जश्न मनाए जाने का विरोध किया था। पुलिस के मुताबिक, जब लोग गांव में युद्ध स्मारक की ओर बढ़ रहे थे तो शिरूर तहसील स्थित भीमा कोरेगांव में पथराव और तोड़फोड़ की घटनाएं हुईं।
मकान को पहुंचाई क्षति
हिंसा तब शुरू हुई जब एक स्थानीय समूह और भीड़ के कुछ सदस्यों के बीच स्मारक की ओर जाने के दौरान किसी मुद्दे पर बहस हुई। इसके बाद पथराव शुरू हुआ। हिंसा के दौरान कुछ वाहनों और पास में स्थित एक मकान को क्षति पहुंचाई गई। हिंसा में एक व्यक्ति की मौत हुई है। हालांकि, उसकी पहचान और कैसे उसकी मौत हुई इसका अभी ठीक-ठीक पता नहीं चला है। पुलिस ने घटना के बाद कुछ समय के लिये पुणे-अहमदनगर राजमार्ग पर यातायात रोक दिया।
मृतक के परिवार को 10 लाख रुपये का मुआवजा
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मामले की न्यायीक जांच का आदेश दिया है। इसके साथ ही उन्होंने मृतक के परिवार को 10 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की है। दलितों पर हुई हिंसा पर शरद पवार ने कहा, लोग वहां 200 साल से जा रहे हैं। ऐसा कभी नहीं हुआ। सभी को उम्मीद थी कि 200वीं सालगिरह पर ज्यादा लोग जुटेंगे। इस मामले में ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है।
मोबाइल फोन का नेटवर्क रोका गया
रिपोर्ट के मुताबिक, मोबाइल फोन नेटवर्क को कुछ समय के लिये अवरूद्ध कर दिया गया ताकि भड़काऊ संदेशों को फैलाने से रोका जा सके। इस कार्यक्रम में दलित नेता एवं गुजरात से नवनिर्वाचित विधायक जिग्नेश मेवाणी, जेएनयू छात्र नेता उमर खालिद, रोहित वेमुला की मां राधिका, भीम आर्मी अध्यक्ष विनय रतन सिंह और पूर्व सांसद एवं डा. भीमराव अंबेडकर के पौत्र प्रकाश अंबेडकर भी उपस्थित थे। घटना के बाद सभी ने भाजपा पर आरोप लगाए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रोजाना खाएं यह फल, बीमारियां रहेंगी हमेशा दूर

नई दिल्ली : हम हमेशा सुनते हैं कि स्वस्थ रहने के लिए मौसमी फल खाने चाहिए। डॉक्टर और न्यूट्रिशनिस्ट भी ताजे और मौसमी फलों और आगे पढ़ें »

Malang

आदित्य रॉय कपूर की फिल्म ‘मलंग’ का फर्स्ट लुक जारी

मुंबई : फिल्म निर्देशक मोहित सूरी की अगली रोमांटिक, एक्शन थ्रिलर फिल्म 'मलंग' का फर्स्ट लुक सामने आ चुका है। शनिवार (16 नवंबर) को आदित्य आगे पढ़ें »

nirmala

वित्त मंत्री ने कहा, मार्च तक बिक सकती है एयर इंडिया और भारत पेट्रोलियम

jilani

मस्जिद के लिए दूसरी जमीन स्वीकार नहीं, दाखिल करेंगे पुनर्विचार याचिका : पर्सनल लॉ बोर्ड

Gotabaya Rajpaksa

गोटबाया राजपक्षे होंगे श्रीलंका के राष्ट्रपति, सजित प्रेमदासा ने हार स्वीकार की

rajnath

राजनाथ सिंह ने अमेरिका के रक्षा मंत्री के साथ की वार्ता, हिंद-प्रशांत पर किया ध्यान केंद्रित

Adhir Ranjan Chowdhury

संसद में गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाने पर जवाब मागेंगे अधीर रंजन

gogoi

आज सीजेआई रंजन गोगोई हो रहे हैं रिटायर, पत्नी के साथ भगवान वेंकटेश्वर के किए दर्शन

फेसबुक लाखों करोड़ों में बेंच रही है आपकी सूचनाएं, जानिए कैसे

missile

अग्नि-2 का रात में हुआ सफल परीक्षण, चीन तक हमला करने में सक्षम

ऊपर