बिहार में लीची लील रही है मासूमों की जान

नई दिल्ली : बिहार के मुजफ्फरपुर में बच्चों की बड़ी तादाद में मौत की खबर पूरे देश के लिए चिंता का विषय बना गई है। मुजफ्फपुर के जिला अस्पताल में बच्चों की मौत का आंकड़ा 54 तक पहुंच गया है। डॉक्टरों के मुताबिक बच्चों की मौत का कारण एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) वायरस है जिसे चमकी बुखार के नाम से भी जाना जा रहा है। डॉक्टरों का मानना है कि बच्चों के मरने का कारण लीची का सेवन है। खाली पेट लीची खाने की वजह से बड़ी तादाद में बच्चों की मौत हो रही है। जनवरी से लेकर अब तक एईएस के करण कूल 179 के आस-पास मौत की खबर सामने आयी है।

एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम का लोगों पर प्रभाव

एईएस की बात करें तो डॉक्टरों के मुताबिक यह एक प्रकार का वायरस है जो शरीर के मुख्य नर्वस सिस्टम यानी तंत्रिका तंत्र को प्रभावित करता है।

इसकी वजह से बच्चों के शरीर में तेज बुखार, ऐठन, तंत्रिका तंत्र में रुकावट, भटकाव, बेहोसी के साथ बेचैनी होने लगती है। यहा तक की लोग कोमा में भी चले जाते है अगर उचित समय पर इलाज न किया जाए तो व्यक्ति की मौत भी हो जाती है। अधिकतर इस बिमारी को जून से अक्टूबर के बीच देखा गया है।

एईएस का मुख्य कारण हाइपोग्लाइसीमिया

‘द लैन्सेट’ नाम की मेडिकल जर्नल में प्रकाशित एक रिसर्च की मानें तो लोगों में एईएस होने का मुख्य कारण हाइपोग्लाइसीमिया यानी लो-ब्लड शुगर है जिसकी वजह से लोगों की मौत हो रही है। हालांकि स्वास्‍थ्य अधिकारियों के मुताबिक एईएस कोई बीमारी नहीं है बल्कि यह एक वायरस है। रात का भोजन न करने के कारण लोगों में हाइपोग्लाइसीमिया की समस्या होती है। बता दें कि रात के समय भोजन न करने कारण लोगों में लो-ब्लड शुगर में कमी हो जाती है। खासकर बच्चों के लिवर और मसल्स में ग्लाइकोजन-ग्लूकोज की क्षमता लिवर और मसल्स में बहुत कम होती है। इससे फैटी ऐसिड्स जो शरीर में एनर्जी पैदा करते हैं और ग्लूकोज बनाते हैं, का ऑक्सीकरण हो जाता है।

स्वास्‍थ्य विभाग की ओर से दिये गये निर्देश
बिहार के मुजफ्फरपुर और आसपास के इलाके में गरीब परिवार के बच्चे जो कुपोषण का शिकार होते हैं वे रात का खाना नहीं खाते और सुबह का नाश्ता करने की बजाए खाली पेट बड़ी संख्या में लीची खा लेते हैं। इससे भी शरीर का ब्लड शुगर लेवल अचानक बहुत ज्यादा लो हो जाता है और बीमारी का खतरा रहता है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने माता-पिता को सलाह दी है कि वे बच्चों को खाली पेट लीची बिलकुल न खिलाएं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

bjp

महाराष्ट्र भाजपा ने 5 वर्ष में 5 करोड़ रोजगार, 2022 तक सबके लिए घर का वादा किया

मुंबई : भाजपा ने आगामी महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए मंगलवार को अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया। इसे संकल्प पत्र नाम दिया गया है। आगे पढ़ें »

icc rule changed

क्रिकेट फाइनल-सेमीफाइनल में निष्कर्ष प्राप्त करने के लिए आईसीसी ने बदला नियम

दिल्ली : इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने सोमवार को बोर्ड मीटिंग के बाद कहा कि अगर फाइनल और सेमीफाइनल मैच टाई होता है तो सुपर ओवर आगे पढ़ें »

ऊपर