बिहार में मस्तिष्क ज्वर से 129 बच्चों की मौत, लोगों ने लगाए नीतीश गो बैक के नारे

मुजफ्फरपुर : बिहार में मस्तिष्क ज्वर या एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) से बच्चों के मरने का सिलसिला जारी है। राज्य में अब तक 129 बच्चों की मौत हो चुकी है। वहीं   मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल पहुंचने पर लोगों ने  मंगलवार को जमकर हंगामा किया। इस दौरान लोगों ने नीतीश कुमार मुर्दाबाद और नीतीश गो बैक के नारे लगाए।

नीतीश कुमार पर फूटा लोगों का गुस्सा

इंसेफलाइटिस की वजह से बच्चों की मौत और मुख्यमंत्री की उदासीनता पर लोग गुस्से में हैं। मंगलवार सीएम एसकेएमसीएच दौरे पर पहुंचे जिसके बाद लोगों का गुस्सा और भड़क गया। लोगों ने अस्पताल के बाहर हंगामा करते हुए नीतीश कुमार मुर्दाबाद और नीतीश गो बैक के नारे लगाए। हंगामा कर रहे लोगों को काबू में करने के लिए वहां पुलिस बल को तैनात किया गया। लोग इस कदर गुस्से में हैं कि वे मुख्यमंत्री को फूलों की जगह जूतों की माला पहनाने की बात कह रहे हैं।

केंद्रीय स्वास्‍थ्य मंत्री ने किया अस्पताल का दौरा

मस्तिष्क ज्वर से रविवार रात तक मुजफ्फरपुर जिले के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल(एसकेएमसीएच) में 18, केजरीवाल अस्पताल में 3 वैशाली में 4 और मोतीहारी अस्पताल में 3 बच्चों ने दम तोड़ दिया था। इस बीच केंद्रीय स्वास्‍थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन ने रविवार को अस्पताल पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। साथ ही 100 मरीजों की केस हिस्ट्री स्टडी की। उन्होंने इस दौरान बीमारी की वजह जानने के लिए मुजफ्फरपुर में एक रिसर्च सेंटर बनाने की बात कही।

बिहार के स्वास्‍थ्य मंत्री चिंतित नहीं

एकओर प्रदेश में मस्तिष्क ज्वर लगातार बच्चों की जान ले रहा था वहीं दूसरी और राज्य के स्वास्‍थ्य मंत्री मंगल पांडे भारत-पाकिस्तान मैच की चिंता सता रही थी। केंद्रीय स्वास्‍थ्य मंत्री ओर स्वास्‍थ्य विभाग के अधकारियों के साथ के साथ  एसकेएमसीएच में इस मस्तिष्क ज्वर को लेकर हुई बैठक के दौरान वे मैच का स्कोर पूछते नजर आए थे।

हर्षवर्द्धन और पांडे के खिलाफ मामला दर्ज 

बच्चों की मौत को लेकर एक सामाजिक कार्यकर्ता तमन्न हाशमी ने केंद्रीय स्‍वास्‍थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन और राज्य के स्वास्‍थ्य मंत्री मंगल पांडे के खिलाफ मुजफ्फरपुर सीजेएम कोर्ट में मामला दर्ज कराया है।

मानवाधिकार ने राज्य सरकार को भेजा नोटिस

वहीं मुजफ्फरपुर में इंसेफलाइटिस से बच्चों की मौतें होने को लेकर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने भी कड़ा रुख अख्तियार कर लिया है। आयोग ने सोमवार को केंद्रीय स्‍वास्‍थ्य मंत्रालय और बिहार सरकार को नोटिस भेजा है। आयोग के अधिकारी ने कहा कि मानवाधिकार आयोग ने मुजफ्फरपुर में पिछले कुछ दिनों से एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम से मरने वाले बच्चों की बढ़ती संख्या पर स्वतः संज्ञान लिया है।

सोते दिखे स्वास्‍थ्य राज्य मंत्री चौबे

केंद्रीय स्वास्‍थ्य मंत्री ने सोमवार को मुजफ्फरपुर अस्पताल का दौरा करने के बाद एक प्रेस कांफ्रेंस की। इस दौरान जब वे पत्रकारों को वहां की स्थिति में बता रहे थे उसी समय केंद्रीय स्वास्‍थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे सोते नजर आए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्या सच में आज रात आ रहा है विजय माल्या भारत ?

नयी दिल्ली : देश के 17 बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपये गबन कर भागे विजय माल्या के आज रात किसी भी वक्त भारत में आगे पढ़ें »

corona

बंगाल में कल से आज कुछ कम आए संक्रमण के मामले

कोलकाता : बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के मंगलवार की तुलना में आज (बुधवार) को 340 मामले आए है जबकि मंगलवार आगे पढ़ें »

ऊपर