बिहार में पानी निकासी के काम में लाई गई तेजी, कोल इंडिया से मंगाए गए बड़े पंप

पटनाः बारिश से बेहाल बिहार के राजधानी व अन्य जिलों में राहत कार्य जारी है। राजधानी में बारिश थम गया है। जल निकासी के लिए काम में और तेजी लाई गई है। लोगों को वायुसेना के दो हेलीकॉप्टर द्वारा फूड पैकेट गिराई जा रही है।

बड़े पंप सेटो का उपयोग
जल मग्न राजधानी में पानी निकासी के लिए प्रशासन युद्ध स्तर पर लगा हुआ है। उसने करीब 6 बड़े मोबाइल पंपिंग सेट को पानी निकालने के लिए लगाया गया है। दो और बड़े पंपिंग सेट को कल्याणपुर से मंगाया गया है। पानी निकालने के लिए एसकेपुरी में 186 एचपी का पंप लगा है, जिसके चलते एसकेपुरी में पानी कम हुआ है।

पेयजल की सप्लाई
मंगलवार को ट्रैक्टर की मदद से डोर टू डोर पानी और खाने का सामान पहुंचाया जा रहा है। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के जवान 135 नाव से राहत अभियान चला रहे हैं। टैंकर से लोगों तक पानी पहुंचाया जा रहा है।

बिलासपुर से मंगाए गए कोल इंडिया के पंप
जल जमाव की स्थिति का निरीक्षण करने निकले केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि छत्तीसगढ़ के बिलासपुर से कोल इंडिया का पंप मंगाया जा रहा है। उन्हें ट्रक से लाया जा रहा है। दोपहर तक चारों पंप पटना पहुंच जाएंगे। इनकी खासियत यह होगी कि यह प्रशासन के सामान्य पंपों की तुलना में जल्दी पानी निकासी करने में मददगार साबित होंगे। इनकी क्षमता भी बहुत ज्यादा है। इन पम्पों को जलभराव वाले इलाकों से हर मिनट करीब 3,000 गैलन पानी की निकासी के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

चीन और डब्ल्यूएचओ के खिलाफ अमेरिका का बड़ा एक्शन

वाशिंगटन :  अमेरिका ने डब्ल्यूएचओ और चीन के खिलाफ बड़ा एक्शन लेते हुए जहां डब्ल्यूएचओ से संबंध खत्म कर रहा है वहीं चीनी छात्रों को आगे पढ़ें »

अम्फान रिलीफ फंड : आर्थिक सहायता व रिकंस्ट्रक्शन के लिए 6250 करोड़ रु.

अम्फान से मरने वालों की संख्या हुई 98 सबिता राय, कोलकाता : अम्फान चक्रवात के प्रभावित लोगों के लिए आर्थिक सहायता तथा रीकंस्ट्रकशन कार्य के लिए आगे पढ़ें »

ऊपर