बिहार में धूमधाम से मनायी गयी मकर संक्रांति

पटना : बिहार में मकर संक्राति का पर्व धूमधाम से मनाया गया। मकर संक्रांति इस बार दो दिन मनाई गयी। कुछ लोग ने मंगलवार को यह पर्व मनाया था। मकर संक्राति का पर्व बुधवार को भी धूमधाम के साथ मनाया गया।
हिंदू पंचांग के अनुसार जब सूर्य एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करता है तो यह घटना संक्रमण या संक्रांति कहलाती है। संक्रांति का नामकरण उस राशि से होता है, जिस राशि में सूर्य प्रवेश करता है। मकर संक्रांति के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है तो उसे मकर संक्रांति कहते हैं। मकर संक्रांति के त्योहार पर गंगा में स्नान का बहुत महत्व माना जाता रहा है। चूड़ा-दही के पर्व मकर संक्रांति के अवसर पर पटना के आस-पास के ग्रामीण इलाकों से गंगा नदी के पवित्र जल में स्नान करने के लिए श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला दो दिन पूर्व से ही शुरू हो गया था, जो बुधवार सुबह तक जारी रहा। सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने के साथ ही गंगा स्नान शुरू हो गया। सुबह से ही गंगा में डुबकी लगाने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। ग्रामीण इलाकों के अलावा शहर के विभिन्न मुहल्लों से श्रद्धालुओं ने राजधानी के महेंद्रू घाट, समाहरणालय घाट, काली घाट, भ्रद घाट, गांधी घाट, कृष्णा घाट समेत विभिन्न घाटों पर जाकर गंगा नदी में स्नान किया और भगवान सूर्य की पूजा-अर्चना की।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में अब तक 1 लाख के पार कोरोना संक्रमण के मामले, 73 हजार ठीक, 2 हजार की मौत

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पिछले 24 घंटे में पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण के 2931 नये मामलों की पुष्टि आगे पढ़ें »

मणिपुर में कांग्रेस के छह विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता और पार्टी से दिया इस्तीफा

इम्फाल : मणिपुर में कांग्रेस के छह विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया और मंगलवार को पार्टी भी छोड़ दी। इन छह आगे पढ़ें »

ऊपर