बिहार में जल-जीवन-हरियाली अभियान के तहत जल स्त्रोतों के जीर्णोद्धार का काम जारी

दरभंगा : जल-जीवन-हरियाली अभियान के तहत बिहार के दरभंगा जिले में अवस्थित प्राकृतिक जल स्त्रोतों की पहचान कर उनका जीर्णोद्धार करने के साथ ही नये जल स्त्रोतों का सृजन करने की दिशा में कार्य जारी है।
जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम ने बुधवार को यहां कार्यालय प्रकोष्ठ में जल-जीवन-हरियाली अभियान की समीक्षा बैठक में कहा कि जल-जीवन-हरियाली अभियान में कुल 10 अवयव हैं। सभी अवयवों में राज्य स्तर पर जिले की रैंकिंग की जा रही है। दरभंगा जिला की रैंकिंग को सुधारने के लिए सभी अवयवों में प्रगति लानी होगी। उन्होंने सभी संबंधित एजेंसियों को प्राकृतिक जल स्त्रोतों के जीर्णोद्धार एवं नये जल स्त्रोतों के सृजन कार्यों का तीव्र गति से क्रियान्वयन करने का निदेश दिया है। डॉ. त्यागराजन ने कहा कि सभी सार्वजनिक एवं निजी जल स्त्रोतों की पहचान कर इसका जीर्णोद्धार किया जायेगा। इसके लिए कुएं/तालाब आदि का भौतिक सर्वेक्षण करने का निर्देश सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी को दिया गया था। सर्वेक्षण प्रतिवेदन की समीक्षा में पाया गया कि अनुमानित जल स्त्रोतों की संख्या से इसमें कम संख्या प्रतिवेदित हुए हैं। जिलाधिकारी ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी के अलावा अभियान से जुड़े अन्य को पुन: तीन दिनों के अंदर अंतिम रूप से सभी सार्वजनिक एवं निजी कुंओं का सर्वेक्षण करके अंतिम प्रतिवेदन समर्पित करने का निदेश दिया है। उन्होंने कहा कि भौतिक सर्वेक्षण प्रतिवेदन में राजस्व विभाग के अभिलेख से मिलान कर ली जाये। उप विकास आयुक्त, डॉ. कारी प्रसाद महतो ने बताया कि चापाकल/कुंआ एवं अन्य जल स्त्रोतों के निकट सोख्ता बनाने का कार्य तेजी से किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि 2437 सोख्ता का निर्माण पूर्ण हो गया है। वहीं, 36 कुंओं का जीर्णोद्धार पूरा कर दिया गया है और वर्तमान में 55 कुंओं का जीर्णोद्धार कार्य प्रारंभ है। गौरतलब है कि जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में अवस्थित कुंओं का जीर्णोद्धार कार्य लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण प्रमंडल द्वारा किया जाएगा। जबकि नगर निकाय क्षेत्र के कुंओं का जीर्णोद्धार नगर विकास विभाग द्वारा किया जाना है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर