बिहार के पूर्व मंत्री एवं राजद विधायक अब्दुल गफूर का निधन

राजनेताओं ने जताया शोक
पटना : बिहार के पूर्व अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री एवं सहरसा जिले के महिषी से राजद विधायक अब्दुल गफूर का मंगलवार सुबह दिल्ली के एक अस्पताल में निधन हो गया। वह 60 वर्ष के थे।
पारिवारिक सूत्रों ने यहां बताया कि विधायक अब्दुल गफूर लीवर कैंसर से पीड़ित थे। उन्हें हाल ही में राजधानी पटना के एक निजी अस्पताल से नयी दिल्ली ले जाया गया था। वह काफी दिनों से बीमार चल रहे थे। उल्लेखनीय है कि सहरसा जिले के एक गांव में 5 मई, 1959 को मोहम्मद जमाल के घर जन्मे अब्दुल गफूर ने 1974 में महज 15 वर्ष की उम्र में ही राजनीति में पदार्पण किया। वर्ष 1995 में वह महिषी से चुनाव लड़े थे। इसके बाद वर्ष 1997 में वह राजद में शामिल हो गये। इसके बाद वर्ष 2000, 2010 और 2015 में उन्होंने विधानसभा में महिषी का प्रतिनिधित्व किया। हालांकि, 2005 में उन्हें चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था। पीएचडी डिग्री धारक गफूर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अगुवाई वाली महागठबंधन सरकार में 20 नवंबर, 2015 से 26 जुलाई 2017 तक बिहार के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री भी रहे। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गफूर के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। नीतीश ने अपने शोक संदेश में कहा कि वे एक कुशल राजनेता एवं प्रसिद्ध समाजसेवी थे। उनके निधन से राजनीतिक एवं सामाजिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है। मरहूम गफूर का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जायेगा। वहीं, राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने अब्दुल गफूर के निधन पर गहरी शोक संवेदना प्रकट करते हुए कहा कि वह हमेशा सुख-दुःख में उनके साथी रहे। रांची से विधायक भोला यादव ने भी गफूर के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की और बताया कि जब यह दुःखद सूचना राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को दी गयी तो वे अत्यंत दुःखी हुए और कहा, ‘अब्दुल गफूर हमारे सुख-दुःख के हमेशा साथी रहे। खुदा उन्हें जन्नत-ए- फिरदौस अता करे। परिजनों को इस शोक की घड़ी मे शोक सहन करने की शक्ति दे।’ बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री एवं राजद विधानमंडल दल की नेता राबड़ी देवी ने शोक संवेदना प्रकट करते हुए कहा कि वह राजद और सामाजिक न्याय के मजबूत स्तंभ थे। बिहार कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने कहा कि वे हमेशा जनसेवा में तत्पर रहते थे, जिससे जनता के बीच काफी लोकप्रिय थे। राजद नीत महागठबंधन के घटक राष्ट्रीय लोक समता पार्टी अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि अब्दुल गफूर के निधन की खबर दुःखद है। ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति एवं परिजनों के लिए संबल की कामना करता हूं। बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा कि अब्दुल गफूर के निधन से राजद ने एक समर्पित, जुझारू एवं हर दिल अजीज नेता को खो दिया है। इनके अलावा राजद की राज्यसभा सांसद मीसा भारती एवं विधायक तेजप्रताप यादव ने भी शोक व्यक्त किया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

turkey

भारत में नफरत फैलानें की साजिश रच रहा है तुर्की, खूफिया एजेंसियों ने किया सतर्क

नई दिल्ली : गृह मंत्रालय को भेजी एक रिपोर्ट में खुफिया एजेंसियों ने यह दावा किया है कि तुर्की के जेहादी इस्लामिक संगठन भारत में आगे पढ़ें »

कोरोना के कारण घटा वैश्विक विकास दर : मुडीज

नई दिल्ली : चीन में भारी त्रासदी कोरोना के कारण दुनियाभर की आर्थिक स्थिति में गिरावट आई है। इसी बीच अमेरिकी रेटिंग एजेंसी मुडीज ने आगे पढ़ें »

nirbhaya

निर्भया मामलेे में जारी हुआ तीसरा डेथ वारंट, 3 मार्च सुबह 6 बजे फांसी का आदेश

marandi

झाविमो का भाजपा में विलय, शाह की मौजूदगी में बाबूलाल मरांडी पार्टी में शामिल

court

शाहीन बाग मामले में शीर्ष न्यायालय ने नियुक्त किया वार्ताकार, सड़क जाम पर जताया ऐतराज

सरकार सुनिश्चित करें कि चीन से आयातित सामानों से भारत को खतरा नहीं : कैट

owesi

महाकाल एक्प्रेस में शिव मंदिर बनाने पर ओवैसी ने जताया ऐतराज, मोदी को याद दिलाया संविधान

rickshaw

रिक्‍शा चालक ने पीएम मोदी को बेटी की शादी में बुलाया, जवाब में बधाई संदेश मिला

congress

मिलिंद देवड़ा ने की केजरीवाल की तारीफ, अजय माकन बोले- पार्टी छोड़नी है तो छोड़ दो

jamia

जामिया हिंसा के वीडियो पर मचा बवाल, हाथ में पत्थर लिए शख्स की हो रही जांच

ऊपर