बाबरी केस में फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती देगा ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड

लखनऊ : बाबरी विध्वंस मामले में सीबीआई की विशेष अदालत के फैसले को गलत ठहराते हुए ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य ज़फरयाब जिलानी ने कहा है कि अयोध्या के पीड़ित इसके खिलाफ इलाहाबाद उच्च न्यायालय में अपील करेंगे। हम सीबीआई कोर्ट के फैसले से इत्तेफाक नहीं रखते। यह फैसला कानून के खिलाफ है। हम इस फैसले को उच्च न्यायालय में चुनौती देंगे। इस घटना के प्रत्यक्षदर्शी और पीड़ित हाजी महबूब और हाजी इकलाख की तरफ से हमने एक प्रार्थनापत्र न्यायालय को दिया था। ये दोनों अयोध्या के निवासी हैं और इस घटना में इनके मकान जले थे। दोनों इस मुकदमे में गवाह भी हैं। अगर जरूरत पड़ी तो पर्सनल ला बोर्ड अथवा बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी भी इस मामले को चुनौती देगा क्योंकि मस्जिद गिरायी गयी है। इस नाते हम भी पीड़ितों में शामिल हैं। पर्सनल ला बोर्ड भी इन दोनों पीड़ितों के मामले की पैरवी कर सकता है। हालांकि इस मामले में अंतिम फैसला बोर्ड की बैठक के बाद लिया जायेगा।

हालांकि, वहीं देश में मुसलमानों के प्रमुख संगठन के वरिष्ठ सदस्य मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने फिलहाल बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में विशेष सीबीआई अदालत के बुधवार के फैसले पर टिप्पणी से इनकार करते हुए कहा कि अब मुस्लिम संगठन मिल-बैठकर तय करेंगे कि इसके खिलाफ आगे अपील करनी है या नहीं। यह सभी लोग जानते हैं कि 6 दिसम्बर 1992 को किस तरीके से अयोध्या में सरेआम बाबरी मस्जिद को शहीद किया गया और कानून की धज्जियां उड़ायी गयीं। उच्चतम न्यायालय ने भी रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद वाद में पिछले साल 9 नवम्बर को सुनाये गये फैसले में कहा था कि मुसलमानों को गलत तरीके से उनकी मस्जिद से वंचित किया गया। बाबरी मस्जिद का विध्वंस एक गैरकानूनी कृत्य था। रशीद ने कहा कि कोई मुजरिम है या नहीं, यह तो अदालतों को ही तय करना होता है। अब मुस्लिम संगठन मिल-बैठकर तय करेंगे कि आगे अपील करनी है या नहीं और अपील का कोई फायदा होगा भी या नहीं, यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा। हिन्दुस्तान के तमाम मुसलमान हमेशा से अदालतों के फैसलों का सम्मान करते आये हैं और हमेशा करते रहेंगे।

परामर्श के बाद अपील पर निर्णय लेगी सीबीआई : बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में विशेष अदालत द्वारा बुधवार को सभी 32 अभियुक्तों को बरी किये जाने के फैसले के खिलाफ अपील का निर्णय सीबीआई विधि अनुभाग के परामर्श के बाद लेगी। सीबीआई के वकील ललित सिंह ने विशेष अदालत द्वारा दिये गये फैसले को चुनौती देने की सम्भावना सम्बन्धी सवाल पर कहा कहा कि निर्णय की प्रति मिलने के बाद उसे सीबीआई मुख्यालय भेजा जायेगा। विधि अनुभाग उसका अध्ययन करने के बाद जो परामर्श देगा, उसी अनुसार अपील करने का निर्णय लिया जायेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राजस्थान ने पंजाब को 7 विकेट से हराया, राजस्थान अब भी प्ले ऑफ की रेस में

अबुधाबी : बेन स्टोक्स की अगुआई में शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत राजस्थान रॉयल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग में शुक्रवार को आगे पढ़ें »

1000 छक्के उड़ाने वाले दुनिया के पहले क्रिकेटर बने गेल

अबु धाबी : राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ शतक से चूक गए अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के कारण दुनियाभर की टी20 लीग में अपना विशिष्ट स्थान रखने आगे पढ़ें »

ऊपर