बसपा राज्यसभा प्रत्याशी के नामांकन पर फर्जी हस्ताक्षर का आरोप

पार्टी के 6 विधायकों ने कहा, गौतम के नामांकन पत्र पर प्रस्तावक के तौर पर हस्ताक्षर हमारे नहीं
लखनऊ : उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के छह विधायकों ने बगावत कर दी है। इन विधायकों ने राज्यसभा चुनाव के लिये पार्टी प्रत्याशी के नामांकन में प्रस्तावक के तौर पर किये गये अपने हस्ताक्षरों को फर्जी बताते हुए बुधवार को पीठासीन अधिकारी को एक शपथपत्र दिया। बसपा विधायक असलम चौधरी, मुज्तबा सिद्दीकी, हाकिम लाल बिंद और असलम राइनी ने पीठासीन अधिकारी को दिये गये शपथपत्र में कहा है कि राज्यसभा चुनाव के लिये बसपा के प्रत्याशी रामजी गौतम के नामांकन पत्र पर प्रस्तावक के तौर पर किये गये उनके हस्ताक्षर फर्जी हैं। उनके साथ विधायक सुषमा पटेल और हरिगोविंद भार्गव भी थे। आगामी 9 नवम्बर को होने वाले राज्यसभा चुनाव के लिये नामांकन पत्रों की बुधवार को जांच की जा रही है। सूत्रों के मुताबिक पीठासीन अधिकारी इन बसपा विधायकों की शिकायत पर गौर करके उचित निर्णय लेंगे। मालूम हो कि पर्याप्त संख्याबल नहीं होने के बावजूद बसपा ने पार्टी के राष्ट्रीय समन्वयक और बिहार इकाई के प्रभारी रामजी गौतम को राज्यसभा चुनाव में प्रत्याशी बनाया है। गौतम ने गत सोमवार को नामांकन दाखिल किया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कांग्रेस की सरकार बनने पर ‘काले कृषि कानूनों’ को निरस्त कर दिया जायेगा: सुरजेवाला

किसानों के संदर्भ में ‘एक देश, एक व्यवहार’ पर अमल करना चाहिए: प्रियंका नयी दिल्ली: कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने शुक्रवार को आगे पढ़ें »

सरकार से सशर्त बातचीत चाहते हैं किसान नेता

पुलिस ने सीमा से किसानों को हटाने के लिए आंसू गैस के गोले दागे नयी दिल्ली: अखिल भारतीय किसान महासभा के राष्ट्रीय महासचिव एवं भारतीय कम्युनिस्ट आगे पढ़ें »

ऊपर