बच्चों का यौन शोषण करने वालों को मिलेगी मौत, पॉक्सो कानून में बदलाव को मिली मंजूरी

नई दिल्ली : केंद्र की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार अब बच्चों के यौन शोषण के खिलाफ सख्त कदम उठाने जा रही है। इसी के तहत केन्द्रीय कैबिनेट ने बुधवार बाल यौन अपराध संरक्षण (पॉक्सो) कानून में संशोधनों को मंजूरी दी है। नए बदलाव में बच्चों का यौन शोषण करने वालों को मौत की सजा देने का प्रावधान शामिल किया गया है।
बाल यौन उत्पीड़न पर अंकुश लगेगा
इस संबंध में अधिकारियों ने बताया कि पॉक्सो कानून में चाइल्‍ड पोर्नोग्राफी पर लगाम लगाने के लिए भी इस संशोधन में सजा और जुर्माने के प्रावधान को शामिल किया गया है। वहीं सरकार का कहना है कि इन संशोधनों से बाल यौन उत्पीड़न पर अंकुश लगने की उम्मीद है क्योंकि कानून में शामिल किए गए ठोस सजा के प्रावधान इसे रोकने का काम करेंगे।
सुरक्षा और गरिमा सुनिश्चित करने की मंशा
सरकार ने कहा कि “इसकी मंशा परेशानी में फंसे असुरक्षित बच्चों के हितों का संरक्षण करना तथा उनकी सुरक्षा और गरिमा सुनिश्चित करने की है। संशोधन का उद्देश्य बाल उत्पीड़न के पहलुओं तथा इसकी सजा के संबंध में स्पष्टता लाना है।”

बता दें कि पिछले कुछ वर्षों में बच्चों के साथ होने वाले यौन अपराधों में तेजी आई है। कई घटनाएं ऐसी भी सामने आई है जिसमें बच्चों को हवस का शिकार बनाने के बाद अपना अपराध छिपाने के लिए दरिंदे उसकी हत्या तक करने से परहेज नहीं करते हैं। ऐसे में देश के बच्चों की सुरक्षा के लिए जरूरी हो गया था कि सरकार बाल अपराध संरक्षण कानून को और सख्त करे।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के कठुआ और उत्तर प्रदेश के उन्नाव में बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटनाएं सामने आई थीं। दरिंदों ने दुष्कर्म की घटना को अंजाम देने के बाद उनकी हत्या कर दी थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर