प्ला‍स्टिक के बाद अब स्कूलों में थर्मोकोल पर प्रतिबंध

लखनऊः देशभर में अब प्लास्टिक पर लगे प्रतिबंध के बाद अब उत्तर प्रदेश के स्कूलों में थर्मोकाल पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। राज्य के बेसिक शिक्षा परिषद ने इसकी पुष्टि की है। अब स्कूल में बनने वाले प्रोजेक्ट्स या अन्य गतिविधियों में शिक्षक व विद्यार्थी थर्मोकोल का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे। इसकी जगह उन्हें कार्डबोर्ड या इस तरह की अन्य सामग्रियों का उपयोग करना होगा।
गौरतलब है कि हर स्कूल में प्रोजोक्ट्स से लेकर क्लासरूम की सजावट और अन्य गतिविधियों तक में थर्मोकोल का खूब इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन उत्तर प्रदेश के स्कूलों में अब ये देखने को नहीं मिलेगा। हालांकि शिक्षकों ने सरकार के इस कदम की प्रशंसा की है।

बेहद नुकसानदेह
बेसिक शिक्षा परिषद की सचिव रूबी सिंह का कहना है कि ‘प्लास्टिक की तरह ही थर्मोकोल से बने प्रोजेक्ट्स भी स्वास्थ्य और पर्यावरण के लिए हानिकारक होते हैं। ये आसानी से अपघटित नहीं होते। इस कारण मिट्टी और पर्यावरण कई सालों तक प्रदूषित रहते हैं।’लखनऊ के एक शिक्षक के अनुसार, ‘अधिकांश स्टूडेंट्स को ये नहीं पता कि थर्मोकोल भी प्लास्टिक की तरह की बेहद हानिकारक वस्तु है। इस संबंध में उत्तर प्रदेश के सभी जिलों के बेसिक शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दे दिया गया है। उन्हें सख्ती से स्कूलों में इसका पालन कराना है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष की मान्यता नहीं देने से नाराज भाजपा सदस्यों का झारखंड सदन में हंगामा

रांची : झारखंड विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष की मान्यता नहीं दिए जाने से नाराज भाजपा आगे पढ़ें »

बेगूसराय सीएसपी लूटकांड मामले में चार अपराधी गिरफ्तार

बेगूसराय : बिहार के बेगूसराय जिले में कुछ दिनों पूर्व ग्राहक सेवा केंद्र के संचालक से करीब पांच लाख रुपये की लूट के मामले में आगे पढ़ें »

ऊपर