प्रीपेड मोबाइल रिचार्ज दुकानें भी खुलेंगी

गैर-हॉटस्पॉट वाले इलाकों में लॉकडाउन में थोड़ी और छूट, बेकरी और आटा मिलें खुल सकेंगी

नयी दिल्ली : केंद्र ने देशभर में जारी लॉकडाउन में एक दिन पहले दी गयी रियायतों में कुछ और बढ़ावा देते हुए कहा कि लॉकडाउन के दौरान गैर हॉटस्पॉट इलाकों में प्रीपेड मोबाइल कनेक्शन को रिचार्ज करने वाली सुविधाएं दी जा सकेंगी। शहरों में ब्रेड बनाने की बेकरी और आटा मिलें भी खुल सकेंगी। गृह मंत्रालय नेे कहा है कि गैर हॉटस्पॉट इलाकों में स्कूली किताबों की दुकानें, बिजली के पंखों की दुकानें भी खुली रहेंगीं।
गृह मंत्रालय नेे कहा –
– जो बुजुर्ग घरों में हैं और बीमार हैं, उनकी देखभाल के लिए आने वालों को लॉकडाउन में छूट रहेगी।
– प्रीपेड मोबाइल को रिचार्ज करने की सुविधाएं दी जा सकेंगी।
– शहरी इलाकों में ब्रेड बनाने की बेकरी, मिल्क प्रोसेसिंग यूनिट, आटा मिलें और दाल मिलें खुल सकेंगी।
फीडबैक के लिए 1921 नंबर से आएगी कॉल
कोरोनावायरस के लक्षणों के बारे में नागरिकों से फीडबैक लेने के लिए टेलिफोनिक सर्वे कराया जायेगा। एनआईसी की तरफ से यह सर्वे होगा। लोगों के मोबाइल नंबर पर 1921 नंबर से फोन आयेगा, जिसमें उन्हें सवालों के जवाब देने होंगे।
गर्भवती महिलाओं के लिए जांच जरूरी : भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कहा है कि जिन गर्भवती महिलाओं का प्रसव 5 दिन के भीतर होने वाला है और अगर वे कोरोनावायरस के क्लस्टर या कंटेनमेंट एरिया में रह रही हैं या बड़े प्रवासी समूहों में रह रही हैं या हॉटस्पॉट वाले जिलों से निकाले गये लोगों के लिए बने सेंटर्स में रह रही हैं तो उनकी अनिवार्य रूप से कोरोना जांच की जायेगी।
विदेशों से शव लाने के लिए भी दिशा-निर्देश : स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि कोरोना के मरीजों या संदिग्ध मरीजों की मौत के बाद उनके शव भारत लाने की सलाह नहीं दी जाती। अगर फिर भी शव भारत के किसी भी एअरपोर्ट पर लाया जाता है तो डेथ सर्टिफिकेट, शव भारत लाने के लिए भारतीय दूतावास से नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट जरूरी होगा। ताबूत ले जाने वालों को 28 दिन की निगरानी में रखा जायेगा। एजेंसियां
2 दिन तक रैपिड टेस्ट किट इस्तेमाल न करें राज्य : आईसीएमआर
भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने राज्यों को निर्देश दिया है कि वे अगले 2 दिन तक कोरोना रैपिड टेस्ट किट का इस्तेमाल न करें क्योंकि इनके नतीजों में बहुत भिन्नताएं देखी जा रही हैं। आईसीएमआर की 8 ऑन ग्राउंड टीमों द्वारा किट परीक्षण के बाद 2 दिन में एडवाइजरी जारी की जायेगी। गौरतलब है कि राजस्थान ने पहले ही रैपिड टेस्ट किट को लेकर सवाल खड़े किये थे। इस बीच देश में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या मंगलवार को बढ़ कर 603 हो गयी और संक्रमण के मामले बढ़ कर 18985 हो गये। आईसीएमआर के आर गंगाखेड़कर ने कहा कि हमने तीन राज्यों से पूछताछ के बाद पाया कि आईटीपीसीआर के पॉजिटिव सेंपल्स में ज्यादा फर्क देखा जा रहा है।
अब तक 4,49,810 सैंपलों का टेस्ट
उन्होंने बताया कि 4,49,810 सैंपलों का अब तक टेस्ट किया जा चुका है। 20 अप्रैल को 35,852 सैंपलों का टेस्ट किया गया जिनमें से 29,776 नमूनों का टेस्ट 201 आईसीएमआर नेटवर्क लैब में और 6,076 सैंपल का टेस्ट 86 निजी लैब में किया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 300 अंक नीचे, बैंक, वित्त कंपनियों के शेयरों में गिरावट

मुंबई : वैश्वकि बाजारों में बिकवाली निकलने से बंबई शेयर बाजार (बीएसई) का सेंसेक्स भी मंगलवार को कारोबार के शुरुआती दौर में 300 अंक से आगे पढ़ें »

शिक्षक राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के लिये स्वयं को नामांकित करें: निशंक

नयी दिल्ली : केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने मंगलवार को शिक्षकों से राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के लिये स्वयं को नामांकित करने और अपनी उपलब्धियों आगे पढ़ें »

ऊपर