महिला साथी की मौत पर पुलिसक‌र्मियों का हंगामा, एसपी-डीएसपी को भी पीटा

पटना : बिहार की राजधानी पटना में एक बीमार महिला सिपाही की मौत के बाद पुलिस लाइन में पुलिसकर्मियों ने जमकर हंगामा किया। पुलिसकर्मियों ने अधिकारियों पर प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए पुलिस लाइन में जमकर बवाल काटा है। पुलिसकर्मियों ने सिटी एसपी, डीएसपी और सार्जेंट मेजर को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा है। लाठी और डंडे से लैस पुलिसकर्मियों ने अधिकारियों को खदेड़ दिया है और गाड़ियों को तोड़ डाला है। बेकाबू हुए पुलिस लाइन के सिपाहियों ने आसपास के दुकानों में और घरों में घुसकर भी जमकर बवाल मचाया और तोड़फोड़ की। जिसके बाद स्थानीय लोग आक्रोशित हो गए और पुलिस लाइन में घुसकर लोगों ने जमकर रोड़ेबाजी की। स्थानीय लोगों और पुलिसवालों के बीच भिड़न्त के बाद हालात बिगड़ गए हैं। पुलिसकर्मियों और स्थानीय लोगों के बीच हुई इस घटना को नियंत्रित करने के लिए मौके पर बड़ी संख्या में रैफ के जवान पहुंच गए हैं। काफी संख्या में स्थानीय लोग पुलिस लाइन में नारेबाजी कर रहे हैं। मौके पर कई थानों की पुलिस और पुलिस के बड़े अधिकारी पहुंच गए हैं। आक्रोशित पुलिसकर्मियों को नियंत्रित करने के लिए पुलिस बल की तरफ से कई राउंड हवाई फायरिंग की गई है। पुलिसकर्मियों के हमले में पुलिस अधिकारियों सहित कई मीडियाकर्मी घायल हो गए हैं।
कानून हाथ में का अधिकार किसी को नहीं – एसएसपी

हंगामे के बीच खबर आ रही है कि एसएसपी मनु महाराज घटनास्थल पहुंचे हैं और पुलिसकर्मियों को समझाने का प्रयास कर रहे हैं। एसएसपी ने बताया कि आरोपी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी। घटना के पीछे के कारणों का पता लगाया जाएगा। इस तरह कानून किसी को भी हाथ में लेने का अधिकार नहीं है। उन्होंने बताया कि बैठक की जाएगी और इस मामले पर बात की जाएगी। एसएसपी स्थानीय लोगों को शांत करने में लगे हैं। इसके साथ ही आक्रोशित पुलिस कर्मियों को भी समझाने का प्रयास किया जा रहा है। फिलहाल हालात काबू से बाहर हैं।
क्यूं उग्र हो गए पुलिस कर्मी –

पुलिसकर्मियों का आरोप है कि महिला सिपाही की तबीयत खराब होने के कारण वो छुट्टी मांगती रही लेकिन उसे छुट्टी नहीं दी गई जिस कारण वह अपना इलाज सही से नहीं करा पाई और उसकी मौत हो गई। वहीं इस मामले में मृतक की एक सहयोगी ने बताया कि 10-12 दिन पहले कारगिल चौक पर उनकी ड्यूटी लगी थी। उसकी तबीयत खराब हो गई लेकिन छुट्टी लेने जब वो यातायात थाने गई तो उसे वहां सीएल नहीं मिला और महज दिन 3 दिन का ही सिक लीव मिल सका। जब उसकी तबियत बहुत ज्यादा खराब हो गई तो उसे पटना के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इसके बाद से ही सिपाही हंगामा कर रहे हैं।











शेयर करें

मुख्य समाचार

विमान की सीट के नीचे मिला डेढ़ किलो सोना

कोलकाता : बैंकाक से कोलकाता आये स्पाइस जेट के विमान से कस्टम्स की एआईयू टीम ने डेढ़ किलो सोना जब्त किया है। सूत्रों के मुताबिक आगे पढ़ें »

भारत के प्रति कृतज्ञ है बंगलादेश – हसीना

कोलकाता : बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और बंगलादेश की पीएम शेख हसीना के बीच शुक्रवार को एक 5 सितारा होटल में बैठक हुई। इस आगे पढ़ें »

ऊपर