पिछले दरवाजे से हो रही है राष्ट्रपति शासन की लाने की कोशिश : येचुरी

नयी दिल्ली : मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी नेता सीताराम येचुरी ने कहा है कि केंद्र सरकार पिछले दरवाजे से राष्ट्रपति शासन लाने की कोशिश कर रही है। यह बात उन्होंने सरकार के ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ के विचार को लेकर कही है। साथ ही उन्होंने इसे असंवैधानिक तथा संघीय व्यवस्था के खिलाफ बताया है।
अनुच्छेद 356 का दुरुपयोग
येचुरी ने कहा कि पहले भी एक साथ चुनाव हुए थे लेकिन अनुच्छेद 356 का दुरुपयोग किया गया। जब तक अनुच्छेद 356 रहेगा तब तक एक साथ चुनाव नहीं हो सकते। माकपा नेता के अनुसार बैठक में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) सहित कई दलों के नेताओं ने कहा कि फिलहाल की व्यवस्था में एक साथ चुनाव संभव नहीं हैं।

बता दें कि ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ के विचार पर चर्चा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बुलाई गयी सर्वदलीय बैठक में भाग लेने के बाद माकपा नेता सीताराम येचुरी ने संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा, ‘‘एक साथ चुनाव का विचार देश में संसदीय प्रणाली की जगह पिछले दरवाजे से राष्ट्रपति शासन लाने की कोशिश है। यह विचार असंवैधानिक और संघीय व्यवस्था के खिलाफ है।’’

गौरतलब है कि संविधान के अनुच्छेद 356 के तहत केन्द्र कुछ आपात स्थितियों में राज्य की चुनी हुई सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगा सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सोनम वांगचुक के चीनी उत्पादों के बहिष्कार अभियान को व्यापारियों का मिला समर्थन

नई दिल्ली : कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने कहा है कि देश के सात करोड़ व्यापारी लद्दाख के शैक्षिक सुधारक सोनम वांगचुक के आगे पढ़ें »

पूर्व पाक कप्तान हनीफ का दावा, 1983 में हॉकी टीम के सदस्‍य तस्‍करी में लिप्‍त थे 

कराची : पाकिस्तान के पूर्व हॉकी कप्तान हनीफ खान ने आरोप लगाया कि 1983 में हांगकांग से वापस आते समय उनकी टीम के कुछ खिलाड़ियों आगे पढ़ें »

ऊपर