पपीता एक, फायदे अनेक

पपीता एक ऐसा फल है जो कच्चा और पका हुआ दोनों ही रूप में खाया जाता है। बीमार व्यक्ति को दिए जाने वाले फलों में पपीता भी शामिल है क्योंकि इसके एक नहीं, अनेक फायदे हैं। पपीता पेट के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इससे पाचन तंत्र ठीक रहता है और पेट के रोग भी दूर होते हैं। पपीते में कैल्शियम भी खूब होता है, इसलिए यह हड्डियां मजबूत बनाता है। जिन लोगों को बार-बार सर्दी-खांसी होती रहती है, उनके लिए पपीते का नियमित सेवन काफी लाभकारी होता है। इससे इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। हेल्थ के अलावा यह स्किन और बालों के लिए भी उतना ही फायदेमंद है।
त्वचा निखार के लिए पपीता
पपीते में विटामिन ए की काफी मात्र होती है जो स्किन के डेड सेल्स को खत्म करता है और स्किन को ग्लोइंग बनाता है। कुछ घरेलू पैक जिससे आप सौंदर्य त्वचा पा सकते हैं।
पपीता, शहद और नींबू का पैक
पपीते के कुछ टुकड़े काट कर पीस लें। उसमें दो चम्मच शहद और एक चम्मच नींबू का रस मिलाएं और चेहरे पर लगाएं। इस पैक से त्वचा की खुश्की और कालापन दूर होता है और चेहरे की त्वचा में चमक आती है।
पपीते और चंदन का पैक
पपीते के कुछ टुकड़े पीस कर उसमें एक छोटा चम्मच चंदन पाउडर और एक चम्मच शहद मिलाकर चेहरे पर लगाएं। 20 मिनट लगाएं, फिर ठंडे पानी से धो लें। इससे आपकी त्वचा साफ्ट और जवान दिखेगी।
पपीता और एवोकाडो
पपीते के कुछ टुकड़ों में एवोकाडो के टुकड़ों को मिलाकर पीस लें। इसमें दो चम्मच जैतून का तेल डालें और अच्छी तरह मैश कर लें। अब इस पेस्ट को चेहरे पर 20 मिनट के लिए लगाएं। सूखने पर पानी से अच्छी तरह साफ करें। यह पैक स्वस्थ त्वचा देता है।
बालों के लिए पपीता
घने और लंबे बालों के लिए पपीता बहुत फायदेमंद है। पपीते में पाए जाने वाले न्यूट्रिशंस बालों को हेल्दी और सॉफ्ट बनाने के साथ एक नेचुरल कंडीशनर का भी काम करते हैं।
पपीता और दही मॉस्क
पपीते के टुकड़ों को पीसकर उसमें आधा कप दही मिलाकर ब्लेंड कर लें। इसे 30 मिनट के लिए बालों में लगा लें और फिर धो लें। यह एक नेचुरल कंडीशनर का काम करता है।
पपीता और केला
कुछ टुकड़े पपीते, आधा केला, दो चम्मच दही और कुछ बूंदें नींबू के रस को एक साथ ब्लेंड करके पेस्ट बनाएं। इसे आधे घंटक तक बालों में लगाकर रखें और फिर शैंपू कर लें। यह ना सिर्फ आपके बालों की कंडीशनिंग करेगा बल्कि उनका झडऩा रोक कर उन्हें घना भी बनाएगा। (स्वास्थ्य दर्पण)
– शिवांगी झाँब

शेयर करें

मुख्य समाचार

लगभग पांच महीने के बाद स्क्वाश खिलाड़ियों ने शुरू किया अभ्यास

चेन्नई : भारत की शीर्ष महिला स्क्वाश खिलाड़ी जोशना चिनप्पा ने कोविड-19 महामारी के कारण लगभग पांच महीने के बाद सोमवार को भारतीय स्क्वाश अकादमी आगे पढ़ें »

थॉमस और उबेर कप बैडमिंटन फाइनल्स में भारत को मिला आसान ड्रा

नयी दिल्ली : भारत को डेनमार्क के आरहूस में तीन से 11 अक्टूबर तक होने वाले थॉमस और उबेर कप बैडमिंटन फाइनल्स में आसान ड्रा आगे पढ़ें »

ऊपर