देश में कुछ सप्ताह में तैयार हो सकता है कोरोना का टीका :मोदी

दुनिया में 8 टीके विकसित किये जा रहे हैं और उनका विनिर्माण भारत में होगा
नयी दिल्ली: देशवासियों को खुशखबरी देते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि कोरोना का टीका अगले कुछ सप्ताह के भीतर आ जायेगा और वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलते ही देश में टीकाकरण अभियान शुरू किया जायेगा। भारतीय वैज्ञानिकों को कोविड-19 का टीका विकसित करने में सफलता का पूरा भरोसा है। यहां एक सर्वदलीय बैठक में मोदी ने शुक्रवार को मोदी कहा कि टीके के लिए बहुत ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। दुनिया में करीब आठ टीके विकसित किये जा रहे हैं और वे परीक्षण के अलग अलग चरणों में हैं। उनका विनिर्माण भारत में होगा। भारत के तीन टीके भी परीक्षण के अलग-अलग चरणों में हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि टीका अब बहुत दूर नहीं है।
मोदी ने कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकारों की टीमें टीके के वितरण के लिए निकट सहयोग से काम कर रहीं हैं। भारत के पास टीके के वितरण की क्षमता एवं विशेषज्ञता है। हमारे पास टीकाकरण का अनुभव तथा विश्व के सबसे बड़े नेटवर्कों में से एक नेटवर्क है। राज्य सरकारों की मदद से शीत भंडारगृहों एवं अन्य टीकों को वहां से अलग-अलग पहुंचाने की व्यवस्था का आकलन किया जा रहा है। टीके के भंडारण एवं वितरण की तात्कालिक स्थिति पर निगरानी के लिए एक विशेष सॉफ्टवेयर तैयार किया गया है। दुनिया की नजर कम कीमत वाले सुरक्षित टीके पर है, और इसलिए स्वाभाविक है कि पूरी दुनिया की नजर भारत पर भी है।
मोदी ने यह भी कहा कि पहले यह टीका स्वास्थ्य कर्मियों को दिया जायेगा, उसके बाद अग्रिम मोर्चे पर काम कर रहे अन्य कर्मियों को दिया जायेगा। जहां तक कोविड-19 रोधी टीके की कीमत की बात है तो लोक स्वास्थ्य को शीर्ष प्राथमिकता दी जायेगी, राज्यों को पूरी तरह से शामिल किया जायेगा। इससे पहले मोदी की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में विभिन्न दलों के प्रतिनिधियों ने अपने सुझाव दिये। मोदी ने विभिन्न दलों के प्रतिनिधियों से लिखित में भी इस संबंध में अपने सुझाव भेजने को कहा। मोदी ने कहा कि कई बार अफवाहें फैल जाती हैं, जो जनहित और राष्ट्रहित के खिलाफ होती हैं। हमारी जिम्मेदारी जागरुकता फैलाने की है। महामारी की शुरुआत के बाद संक्रमण के हालात पर चर्चा करने के लिए सरकार की ओर से आयोजित यह दूसरी सर्वदलीय बैठक है।
सबसे पहले एक करोड़ स्वास्थ्य कर्मियों को दिया जायेगा कोरोना टीका: कोरोना वायरस के हालात और इसके संभावित टीके पर शुक्रवार को हुई सर्वदलीय बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपनी प्रस्तुति में कहा कि कोविड-19 का टीका विकसित होने के बाद सबसे पहले सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के करीब एक करोड़ स्वास्थ्य कर्मियों को दिया जायेगा। उसके बाद अग्रिम मोर्चे पर काम कर रहे अन्य दो करोड़ कर्मियों को दिया जायेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने प्रस्तुति दी। मंत्रालय ने इसमें कहा कि कोविड-19 का टीका सबसे पहले डॉक्टरों और नर्सों समेत करीब एक करोड़ स्वास्थ्य कर्मियों को दिया जायेगा। इसके बाद पुलिस, सशस्त्र बल कर्मियों और निगम कर्मियों समेत अग्रिम मोर्चे पर रहकर काम करने वाले करीब दो करोड़ लोगों को टीका लगाया जायेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

महानगर में आत्महत्या रोकने के लिए पुलिस शुरू करेगी‘हेल्पलाइन’

फोन ही मनोवैज्ञानिक करेंगे लोगों की काउंसिलिंग बढ़ती आत्महत्या की घटनाओं को देखते हुए लिया गया फैसला सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : किसी भी मनुष्य के आगे पढ़ें »

बहूबाजार में अधेड़ पर जानलेवा हमला कर लूटे रुपये

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : महानगर में अधेड़ पर धारदार हथियार से हमला कर रुपये लूटने के आरोप में पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। आगे पढ़ें »

ऊपर