देवी प्रतिमा को अराजक तत्वों ने तोड़ा, जहानाबाद में हालत बिगड़े, धारा 144 लागू

जहानाबादः राज्य के जहानाबाद शहर में गुरुवार सुबह विसर्जन के लिए ले जाई जा रही देवी प्रतिमा को अराजक तत्वों ने तोड़ दिया। मूर्ति तोड़े जाने के बाद शहर में तनाव फैल गया। इसके बाद तोड़फोड़, मारपीट व पथराव की घटनाएं हुए। इस दौरान यहां करीब 10 दुकानों में आग लगा दी गई। इस घटना में दो दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए है।

हालत बिगड़ने पर आरएएफ को तैनात किया गया
फिलहाल, पुलिस महकमा पहुंच कार्रवाई शुरू कर दी है। जब हालत ज्यादा बिगड़े तो डीएम, एसपी, एएसपी दलबल के साथ मौके पर पहुंचे। रैपिड एक्शन फोर्स को मौके पर बुलाना पड़ा। कई इलाकों में धारा 144 लगा दी गई है। पुलिस ने किसी को इन अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की है ताकि क्षेत्र में तनाव को दूर किया जा सके।

यह है मामला
बुधवार देर रात लोग मूर्ति विसर्जन के लिए निकले थे। लोगों ने रात भर डीजे पर डांस किया और गुरुवार सुबह मूर्ति विसर्जन के लिए ठाकुरबाड़ी जा रहे थे। इसी दौरान पंच मोहल्ला स्थित कच्ची मस्जिद के पास असामाजिक तत्वों ने ईंट-पत्थर मारकर मूर्ति तोड़ दी। इसी को लेकर विवाद शुरू हुआ। पुलिस और असामाजिक तत्वों के बीच कई राउंड फायरिंग भी हुई। हालांकि, इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। तनाव के माहौल को देखते हुए चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल की तैनाती की गई है।

सीसीटीवी से होगी अपराधियों की पहचानः एसएसपी
एएसपी पंकज कुमार ने बताया कि मामला शांत करा लिया गया है। तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल को मौके पर बुला लिया गया है। पूरे शहर में लगे सीसीटीवी के आधार पर आरोपियों की पहचान की जाएगी। पुलिस और प्रशासन के सभी अधिकारी मौके पर कैंप कर रहे हैं। अरवल मोड़, फिदा हुसैन रोड, गड़ेरिया खंड और राजा बाजार इलाके में तनाव का माहौल है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टोक्‍यों ओलंपिक में खिलाड़ियों का पूरा समर्थन करेगा देश : कोविंद

नयी दिल्ली : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को कहा कि 24 जुलाई से नौ अगस्त तक आयोजित 2020 टोक्यो ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व आगे पढ़ें »

बुकर पुरस्कार विजेता जोखा अल हार्सी पहुंचीं जयपुर साहित्य महोत्सव में, लेखन चुनौतियों का जिक्र किया

जयपुरः ओमान की लेखिका एवं बुकर पुरस्कार विजेता जोखा अल हार्सी के लिए लेखन का सबसे दिलचस्प और चुनौतीपूर्ण पहलू समाज में मौजूद अनसुनी और आगे पढ़ें »

ऊपर