दिल्ली चुनाव के लिए भाजपा से गठबंधन के कारणों का खुलासा करें नीतीश कुमार : पवन वर्मा

नयी दिल्ली : जनता दल (यू) के नागरिकता संशोधन विधेयक (कैब) को संसद में समर्थन देने का विरोध कर चुके पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव पवन कुमार वर्मा ने जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार से दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा से गठबंधन के कारणों का खुलासा करने के साथ ही सीएए, एनआरसी और एनपीआर पर अपना रुख स्पष्ट करने के लिए पत्र लिखकर राजनीतिक सरगर्मी बढ़ा दी है।
पवन वर्मा ने मंगलवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लिखे पत्र में कहा, ‘एक तरफ जहां सीएए, एनआरसी और एनपीआर को लेकर पूरे देश में विरोध हो रहा है, ऐसे में जदयू ने कैसे दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा के साथ गठबंधन कर लिया? नीतीश कुमार भाजपा तथा सीएए, एनआरसी एवं एनपीआर पर अपना स्टैंड स्पष्ट करें।’ जदयू महासचिव ने कहा कि उन्हें पता चला कि दिल्ली विधानसभा का चुनाव जदयू और भाजपा साथ मिलकर लड़ेगी। ऐसा पहली बार होगा, जब जदयू बिहार के बाहर चुनाव लड़ने के लिए भाजपा के साथ गठबंधन कर रहा है। वर्मा ने जदयू अध्यक्ष से कहा, ‘मैं स्वीकार करता हूं कि जदयू के इस निर्णय से मैं अजीब कशमकश में हूं और विचारधारा के स्तर पर आपके (नीतीश) स्पष्ट रुख के बारे में जानना चाहता हूं। आप भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को लेकर कई बार अपनी आशंका जाहिर कर चुके हैं। भारतीय विदेश सेवा से त्यागपत्र देने के बाद आपसे पटना में मेरी पहली मुलाकात अगस्त 2012 में हुई और तब आपने मुझे गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी एवं उनकी नीतियां देश के लिए कितनी खतरनाक है, के बारे में बताया था। इतना ही नहीं आप जब महागठबंधन का नेतृत्व कर रहे थे तब आपने सार्वजनिक रूप से संघमुक्त भारत का नारा दिया था।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

ऊपर